देश भर के स्टेशन मास्टरों ने क्यों जलाई मोमबत्ती?

तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर : खड़गपुर (Kharagpur) समेत देश के  विभिन्न भागों में  रेलवे स्टेशन मास्टरों ने गुरुवार की रात अपने-अपने कार्य स्थलों में मोमबत्ती जला कर विरोध प्रदर्शन किया। इसके माध्यम से स्टेशन मास्टर्स ने रेलवे प्रशासन और केंद्र सरकार को चेताने की कोशिश की। खड़गपुर के आर आर आई में आयोजित इस सांकेतिक विरोध प्रदर्शन में आल इंडिया स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन (All India Station Master Association) की दक्षिण पूर्व रेलवे शाखा के सचिव दिलीप कुमार समेत 15 स्टेशन मास्टर्स उपस्थित रहे। मंडल के विभिन्न स्टेशनों के साथ ही देश भर में इसका पालन किया गया।
एसोसिएशन के पदाधिकारियों के  मुताबिक कोरोना काल में भीषण प्रतिकूल परिस्थितियों में दायित्व पालन करने के बावजूद सरकार हमारी सुख- सुविधाओं में कटौती पर उतारू है। हाल में रात्रिकालीन भत्ते की सीलिंग का नया कानून लागू करने की बात सामने आई है । हम इसका विरोध करते हैं। क्योंकि स्टेशन मास्टर्स लगातार रात में जाग कर कार्य करते हैं। मांगों को लेकर हम रेलवे बोर्ड समेत विभिन्न स्तर पर पत्राचार कर रहे हैं । इस महीने की अलग-अलग तिथियों पर हमारा सांकेतिक विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा । कभी काला बैज लगा कर तो कभी दूसरे तरीके से। परिणाम नहीं मिलने पर 31 अक्टूबर को ड्यूटी पर रहते हुए भूख हड़ताल करेंगे ।
Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ten − five =