खड़गपुर के “नवान्न” पर किसका होगा कब्जा?

तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर । रेलनगरी खड़गपुर की सत्ता का केंद्र यानि खड़गपुर नगरपालिका पर इस बार किसका कब्जा होगा? शहर में यह सवाल नागरिकों के बीच यक्ष प्रश्न बना हुआ है। सत्ता के दावेदार अपनी तरफ से एड़ी-चोटी का जोर लगाए है। हालांकि चैन की स्थिति में कोई भी नहीं है। क्योंकि बड़े दावेदारों में टीएमसी और भाजपा दोनों के सामने अनेक चुनौतियां हैं। टिकट बंटवारे से पैदा हुई कार्यकर्ताओं की नाराजगी उम्मीदवारों की नींद हराम किए हुए है। अलबत्ता हर उम्मीदवार अपनी ओर से बैनर-पोस्टर और फैस्टून आदि से माहौल बनाने की कोशिश में जुट गया है। मतदान को बस 15 दिन शेष बचे हैं। लेकिन मतदाताओं में “टेंपो” न उठने से विभिन्न दलों के उम्मीदवार खासे परेशान हैं।

रोचक मुकाबले का केंद्र बना वार्ड नंबर 19 : स्थानीय नगरपालिका का वार्ड नंबर 19 शुरू से रोचक मुकाबले का केंद्र रहा है। इस बार भी वार्ड में मुकाबला दिलचस्प है। सत्तापक्ष टीएमसी ने इस बार राजू गुप्ता को उम्मीदवार बनाया है। पार्टी नेता और कार्यकर्ता पिछले कार्यकाल में किए गए विकास कार्य के आधार पर वोट मांग रहे हैं। वहीं वरिष्ठ नेता व पूर्व सभासद सत्यदेव शर्मा अपने संगठन ‘खड़गपुर विकास मंच’ के इकलौते उम्मीदवार है। शर्मा दूषित जल, सड़क, पानी, बिजली, नाला सफाई और हर पोस्ट पर लाइट आदि को मुद्दा बना कर जनता के बीच जा रहे हैं। भाजपा ने इस वार्ड से दीपसोना घोष को उम्मीदवार बनाया है। करीब छह हजार मतदाताओं वाले इस वार्ड से नितिन शर्मा तथा मृणाल बनर्जी भी चुनाव मैदान में है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 + 18 =