खड़गपुर के ये युवक कौन हैं जिन्होंने शहर को ‘आदर्श नगर’ बनाने की ठानी है !!

तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर : कोरोना काल में कभी लॉक डाउन में फंसे लोगों की मदद तो कभी तालाब की सफाई और कभी फ्लाई ओवर से खरपतवार उखाड़ फेंकने की कवायद । आखिर ये युवा कौन हैं जिन्होंने शहर को आदर्श नगर बनाने की ठानी है । इस सवाल का जवाब है – गुरु संदीपनी शाखा । जिससे शहर के करीब २५ युवा जुड़े हैं । इन स्वयंसेवक युवकों ने महसूस किया कि सुबह प्रात: भ्रमण और दैनंदिन कार्य के बाद भी इतना समय बच जाता है , जिसमें समाज के लिए कुछ सकारात्मक किया जा सकता है । बस युवाओं ने करीब चार साल पहले शहर के प्राचीन मंदिर तालाब की सफाई का बीड़ा उठाया ।

स्वयंसेवकों की अगुवाई करने वालों में अभिमन्यु गुप्ता और सोन कुमार ने बताया कि इस महती कार्य में उन्हें समाज के हर वर्ग का सहयोग मिला । तालाब की सफाई से लोगों को काफी राहत मिली । क्योंकि श्मशान भूमि पर अवस्थित होने से इससे लोगों की आस्था जुड़ी हुई है । हर साल बड़ी संख्या में लोग यहां छठ पूजा करने भी आते हैं । गंदगी से उन्हें दिक्कत होती थी । वहीं कोरोना काल के लॉक डाउन के दौरान भी स्वयंसेवक अपने स्तर पर जरूरतमंद लोगों की मदद में व्यस्त रहे । हाल में विगत २० सितंबर से २ अक्टूबर तक स्वयंसेवकों ने आइआइटी फ्लाई ओवर से अवांछित पौधों , बालू – मिट्टी व झाड़ियों की सफाई का अभियान शुरू किया ।

क्योंकि इससे पुल को नुकसान पहुंचता है । निष्कर्ष के मुताबिक कोलकाता का माझेरहाट पुल हादसा इसी वजह से हुआ था । जिसमें जन धन की व्यापक क्षति हुई थी । शहर को लंबे इंतजार के बाद पुल मिला है । इसे दुरुस्त रखना केवल शासन की ही जिम्मेदारी नहीं , इसमें जनसहभागिता भी नितांत आवश्यक है । इस भावना के तहत सफाई अभियान आरंभ किया गया । शुरू में दो – तीन लोग ही इस कार्य से जुड़े , लेकिन अभियान की जानकारी सोशल मीडिया में डालने के बाद बड़ी संख्या में लोग हमसे जुड़ते गए । हमारी कोशिश अभियान के बाद भी नियमित निगरानी की है , जिससे यथा स्थिति बनी रहे । उन्होंने कहा कि मिशन धरोहर और मेरा शहर , मेरी जिम्मेदारी के तहत हम शहर में इस अभियान की मशाल जलाए रखना चाहते हैं ।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × four =