लक्ष्मी कहाँ नहीं करती वास, जानिए यहां

वाराणसी : घर में कभी धन धान्य की कमी न हो और जीवन सुखमय हो ये इच्छा प्रत्येक व्यक्ति की होती है। परन्तु देखा गया है कि किसी-किसी घर में दरिद्रता कभी पीछा ही नहीं छोडती मानो धन की देवी लक्ष्मी उनसे रुष्ट हो गयी हों। माँ लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए हमें कठोर परिश्रम के साथ-साथ अपने आचार विचार और रहन सहन में भी शुद्धता की आवश्यकता होती है।आइए जाने कुछ ऐसे ही सरल उपाय जिनको हम अपनी दिनचर्या में अपना कर धन सम्बन्धी कष्टों को दूर कर सकते हैं।

लक्ष्मी के आवास के प्रमुख कारण :
जिस घर में क्लेश होता है और जहाँ आपस में प्रेम की भावना का अभाव होता है उस घर में लक्ष्मी की कमी रहती है।

जो लोग अपने घर को व्यवस्थित नहीं रखते तथा जिनके घर में बर्तन इधर उधर बिखरे रहते है उस घर से लक्ष्मी रुष्ट हो जाती है।

जो व्यक्ति बिना सोचे विचारे कार्य करते है और दूसरों के घरो में अनावश्यक दखल करते हैं, उस घर में लक्ष्मी नहीं रहती है।

लक्ष्मी का घर में वास हो इसके लिए आपके विचारों का शुद्ध और पवित्र होना आवश्यक है।

जो व्यक्ति दूसरों का धन हड़प लेते है और दूसरों की संपत्ति पर निगाह रखते है ऐसे व्यक्ति के घर धन नहीं आता।

जिस घर में पूजा पाठ नहीं होता और देवताओ का अपमान होता है वहाँ जीवन पर्यन्त लक्ष्मी नहीं रहती।

जो व्यक्ति आलसी होते है और सूर्योदय के बाद भी सोते रहते है ऐसे घर लक्ष्मी नहीं आती।

जो व्यक्ति नशीले पदार्थो और व्यसन में लिप्त रहते है ऐसे घर से लक्ष्मी रुष्ट रहती हैं।

जो पुरुष अपनी पत्नी का अपमान करता है और उसे नौकरानी समझता है और उसके साथ सबके सामने दुर्व्यवहार करता है, वह लक्ष्मी के आभाव में जीता है।

जो स्त्री अपने पति के बारे में बुरा बोलती है और लज्जा को त्याग देती है ऐसे घर लक्ष्मी नहीं रहती।

जो लोग संध्या काल या दिन में सोते है और मेहनती नहीं होते उनके घर लक्ष्मी का वास नहीं होता

जो लोग मैले वस्त्र धारण करते है और व्यक्तिगत स्वछता पर ध्यान नहीं देते उसे लक्ष्मी छोड़ देती है।

जो व्यक्ति अपने नाखूनों से तृण तोड़ता है और नाखूनों से भूमि को कुरेदता है उसे लक्ष्मी के अभाव में जीना पड़ता है।

जो व्यक्ति अधिक भोजन करते है और सूर्योदय के समय भोजन करते है उन्हें लक्ष्मी की प्राप्ति नहीं होती।

निरंतर व्यर्थ की बातें करना तथा दूसरो का परिहास करना भी लक्ष्मी को रुष्ट करता है।

जिन लोगो का कोई गुरु नहीं होता या जो लोग गुरुजनो का अपमान करते है ऐसे घर लक्ष्मी की कृपा नहीं होती।

यदि घर में कोई टूटा दर्पण है तो यह नकारत्मकता फैलाता है तथा मानसिक तनाव भी लाता है ऐसी स्थिति लक्ष्मी हरण कर लेती है।

घर में ख़राब गाड़ी या कोई ख़राब इलेक्ट्रॉनिक सामान से भी धन हानि होती हैं।

जो अपने मंदिर को गन्दा रखते है और ईश्वर को बासी पुष्प अर्पित करते है वह लक्ष्मी को नहीं पाते।

जो व्यक्ति निराशावादी और पुरुषार्थहीन होते है उनके घर लक्ष्मी नहीं आती।

जिस स्त्री का व्यवहार कठोर और निर्दयी होता है और जो घरो में लड़ाई झगड़ा करती-कराती है वह लक्ष्मी से वंचित रहती है।

जो लोग अपने माता पिता का निरादर करते है और उन्हें यथोचित स्थान नहीं देते वह लक्ष्मी के प्रिय नहीं होते।

जो लोग बिना हाथ पैर धोये और निर्वस्त्र होकर सोते है उनके घर लक्ष्मी नहीं आती।

जो स्त्री या पुरुष चरित्रहीन होते है और गंदे पाप और कर्म करते है उनके घर लक्ष्मी नहीं रहती।

manoj jpg
पंडित मनोज कृष्ण शास्त्री

ज्योतिर्विद वास्तु दैवज्ञ
पंडित मनोज कृष्ण शास्त्री
मो. 9993874848

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − two =