• कार्बन सोसाइटी की ओर बढ़ना चाहिए – प्रोफेसर एस पी बाजपेई मुख्य वक्ता।

अशोकनगर। शासकीय महाविद्यालय पिपरई, जिला अशोकनगर, मध्यप्रदेश एवं इको क्लब के संयुक्त तत्वावधान में विश्व पर्यावरण दिवस पर वेबीनार का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता डाॅ हरिसिंह गौर विश्वविद्यालय के जीव विज्ञान के पूर्व संकायध्यक्ष प्रोफेसर एस पी वाजपेई एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविद्यालय के प्राचार्य प्रोफेसर राजमणि यादव ने की। कार्यक्रम का संचालन कार्यक्रम प्रभारी डॉ अश्वनी कुमार दुबे ने किया। मुख्य वक्ता डॉक्टर बाजपेई ने बताया कि अब तक पांच महाप्रलय हो चुके हैं वैज्ञानिक दृष्टिकोण से इसका मुख्य कारण समुद्र में कार्बन डाय ऑक्साइड का सौ पीपीएम से अधिक होना बताया गया है। ग्रीन क्षेत्रफल बढ़ाकर तैतीस प्रतिशत तक लाना होगा। कार्बन उत्सर्जन को हर हाल में कम करना होगा।

कम्पयूटर साइंस के सुनील शर्मा ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए जनांदोलन होना चाहिए। इस अवसर पर डॉ संदीप आर्य, डॉ प्रह्लाद दुबे कोटा राजस्थान, डॉ पदाला तिरुपति तेलंगाना, डॉ राजेश कुमार पांडेय झांसी, प्रोफेसर एच सी नायक महाराजा छत्रसाल बुंदेलखंड विश्वविद्यालय छतरपुर सहित सभी विषय विशेषज्ञों एवं महाविद्यालय के प्राध्यापकों ने मंथन किया। आभार मिथिलेश राजोरिया ने व्यक्त किया। ग्राफिक्स विवेक शुक्ला ने किया।

इस अवसर पर महाविद्यालय की छात्र छात्राएं, शैक्षणिक स्टाफ डॉ रेखा डावर, प्राची यादव, चन्द्र शेखर जाटव, डॉ. शिवनारायण मिश्र, डॉ. अजब सिंह राजपूत, डॉ प्रदीप कुमार रावत, डॉ. संजय चौरसिया, डॉ. मुकेश शर्मा, डॉ. प्रियंका सिंह, डॉ सत्यवती राठौर, डॉ प्रियंका दुबे, ऋचा रजक, डॉ सन्तोष भोज, डॉ राजेश पहारिया, अनिल कुमार एवं विषय विशेषज्ञ आनलाइन उपस्थित रहे।

IMG-20220605-WA0006

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × 3 =