क्या ईस्ट इंडियन रेलवे का मुख्यालय फेयरली प्लेस में ही था?

कुमार संकल्प, कोलकाता: क्या आप जानते हैं कि पूर्व रेलवे का मुख्यालय पहले कहां था? शायद ही कोई हो जो फेयरली प्लेस में पूर्व रेलवे की बड़ी इमारत को न जानता हो। औपनिवेशिक काल से पूर्व रेलवे के मुख्यालय के रूप में जानी जाने वाली इस इमारत को आज भी ब्रिटिश वास्तुकला की निशानी के रूप में सराहा जाता है। पूर्व रेलवे का मुख्यालय पहले इस इमारत में नहीं था। 1879 में तत्कालीन ईस्ट इंडियन रेलवे का कार्यालय फेयरली प्लेस में स्थानांतरित कर दिया गया था।

इस ईस्ट इंडियन रेलवे को बाद में लोगों ने ईस्टर्न रेलवे या पूर्व रेलवे के नाम से जाना। इस नई इमारत में स्थानांतरित होने से पहले पूर्व रेलवे का मुख्यालय थिएटर रोड पर स्थित एक इमारत से संचालित होता था।

Was the headquarters of the East Indian Railway always at Fairlie Place?

फेयरली प्लेस क्षेत्र का सबसे पुराना नक्शा, जो 1794 का है, एक अनाम सड़क के अस्तित्व को दर्शाता है, जो पुराने किले को घाट से जोड़ती है।

साल 1773 में फोर्ट विलियम की स्थापना के साथ ही तत्कालीन ब्रिटिश सरकार ने वर्तमान राइटर्स बिल्डिंग के पश्चिम में स्थित इस पुराने किले को छोड़ दिया। इस किले या किले से गुजरने वाली सड़क को उस समय फेयरली प्लेस के नाम से जाना जाता था। फेयरली प्लेस का नाम फेयरली, गिलमन एंड कंपनी के जाने-माने व्यवसायी विलियम फेयरली के नाम पर रखा गया था।

यह व्यापारिक संस्था लॉर्ड वेलेजली के समय बंगाल प्रेसीडेंसी के सेना प्रभाग के हाथियों और ऊँटों को भोजन की आपूर्ति करता था। राष्ट्रीय संग्रहालय (नेशनल म्यूजियम, कलकत्ता) कुछ समय तक इस इमारत में स्थित था, जिसे  ईस्ट इंडियन रेलवे ने अपने मुख्यालय के लिए अधिग्रहण कर लिया। ईस्ट इंडियन रेलवे ने इस इमारत का अधिग्रहण कर यहाँ एक बुकिंग कार्यालय खोला, जिसे फेयरली प्लेस बुकिंग कार्यालय के नाम से जाना जाने लगा।

Was the headquarters of the East Indian Railway always at Fairlie Place?

कुछ वर्षों के बाद, ईस्ट इंडियन रेलवे ने इस इमारत से सटे एक बड़े क्षेत्र का अधिग्रहण कर लिया और धीरे-धीरे वर्तमान बड़ी इमारत का निर्माण किया गया, जिसका मुख्य प्रवेश द्वार वर्तमान राइटर्स बिल्डिंग की ओर है। तब से, इमारत का उपयोग ईस्ट इंडियन रेलवे के मुख्यालय और इसके उत्तराधिकारी, पूर्व रेलवे के मुख्यालय के रूप में किया जाता रहा है।  हालाँकि, अब फेयरली प्लेस से संबंधित कोई सड़क नहीं है, लेकिन यह इमारत जनमानस में लोकप्रिय है।

(रिपोर्ट-कुमार संकल्प)

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे कोलकाता हिन्दी न्यूज चैनल पेज को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। एक्स (ट्विटर) पर @hindi_kolkata नाम से सर्च करफॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *