कोलकाता। पश्चिम बंगाल में यादवपुर विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति प्रोफेसर सामंतक दास बुधवार को दक्षिण कोलकाता स्थित अपने आवास में मृत मिले।पुलिस ने बताया कि 57 वर्षीय जाने माने शिक्षाविद का शव दोपहर में उनके रानीकुटी इलाके में स्थित घर में फंदे से लटका मिला। दास सुबह विश्वविद्यालय नहीं गए थे। विश्वविद्यालय ने किसी काम के सिलसिले में उन्हें लेने के लिए जब कार उनके घर भेजी तो उनके परिवार के सदस्यों ने उनके कमरे के दरवाज़े पर दस्तक दी जो बंद था। उन्होंने जब दरवाज़ा नहीं खोला तो उसे तोड़ा गया और अंदर उनका शव फंदे से लटका था।

उन्हें पास के एक सरकारी अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। रीजन्ट पार्क थाने के एक अधिकारी ने बताया, “ शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है तथा आगे की जांच की जा रही है।” कुछ साल पहले दास की पत्नी ने खुदकुशी कर ली थी। वह तुलनात्मक साहित्य विभाग के प्रसिद्ध शिक्षक थे और 2007-2009 के बीच विभाग के प्रमुख भी रहे थे।

प्रति कुलपति के तौर पर उनका कार्यकाल सितंबर में खत्म होने वाला था। कुलपति सुरंजन दास ने कहा, “ यादवपुर विश्वविद्यालय ने आज अपने सबसे अहम एक पदाधिकारी खो दिया जो विश्वविद्यालय का एक प्रतिष्ठित चेहरा भी थे। जब मैं 2015 में विश्वविद्यालय का कुलपति बना तो सामंतक दास उन चंद लोगों में थे जिन्होंने मुझे बहुत सहज महसूस कराया और इस विश्वविद्यालय के जीवन से परिचित होने में मेरी मदद की।”

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 − two =