बोलपुर। विश्वभारती विश्वविद्यालय में करीब 10 घंटे तक छात्रों के आंदोलन के बीच घिरे रहे कुलपति विद्युत चक्रवर्ती को आखिरकार 10 घंटे बाद मुक्ति मिली है। शांतिनिकेतन और बोलपुर दोनों थानों की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उन्हें बाहर निकाला। बुधवार आधी रात बाद उन्हें छात्रों के चंगुल से मुक्त कराया गया है। इस दौरान सुरक्षाकर्मियों को बांस, लाठी, डंडे और खूंती लेकर आना पड़ा था ताकि हमले की सूरत में बचाव किया जा सके।

उल्लेखनीय है कि हॉस्टल की मांग, शोध कार्यों में बाधा नहीं देने और न्यायालय के आदेश की कथित अवमानना के खिलाफ छात्रों ने बुधवार शाम 4:00 बजे से कुलपति को उन्हीं के कमरे में घेर लिया था। नारेबाजी और हंगामा होता रहा जिसके बाद विद्युत चक्रवर्ती ने बीरभूम के पुलिस अधीक्षक को ईमेल कर इस बात की जानकारी दी। रात 2:00 बजे के करीब दोनों थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और उन्हें सुरक्षित हटाया है। हालांकि छात्रों का आंदोलन जारी है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine + seventeen =