घड़ी के वास्तु नियम : कहीं घड़ी तो नहीं बन रही है आपके दुर्भाग्य का कारण, दूर करने के लिए आज ही करें ये महाउपाय

पंडित मनोज कृष्ण शास्त्री, वाराणसी । हर आदमी के जीवन में अच्छा-बुरा समय आता-जाता रहता है, लेकिन जब कभी बुरा समय आने के बाद जाने का नाम न ले तो आपको अपने घर की घड़ी के वास्तु नियम पर जरूर एक बार नजर दौड़ानी चाहिए। घड़ी के वास्तु नियम के बारे में विस्तार से जानने के लिए जरूर पढ़ें ये लेख।

घड़ी का वास्तु नियम : जीवन में समय की बहुत अहमियत होती है। यदि आपका समय ठीक चल रहा है तो सब ठीक है और यदि आपका समय ठीक नहीं चल रहा है तो आपके बनते काम भी बिगड़ने लगते हैं। क्या आपको पता है कि आपके अच्छे-बुरे समय का संबंध आपकी समय बताने वाली घड़ी से भी होता है? जी हां, यदि आप चाहते हैं कि आपके जीवन में अनचाही परेशानियां या बाधाएं न आएं तो आपको अपने घर में हमेशा वास्तु के अनुसार ही घड़ी लगानी चाहिए। आइए जानते हैं घड़ी का वास्तु नियम।

इस दिशा में भूलकर न लगाएं घड़ी : वास्तु के अनुसार घर में घड़ी लगाते समय वास्तु नियमों का विशेष रूप से ख्याल रखना चाहिए। वास्तु के अनुसार कुछेक दिशाओं में घड़ी लगाने पर जीवन में तमाम तरह की कठिनाईयां आती हैं जैसे :-

1. दक्षिण दिशा की दीवार पर या मेज आदि पर घड़ी होने पर घर के मुखिया की सेहत पर बुरा असर पड़ता है।

2. इसी प्रकार दरवाजे के ठीक ऊपर कभी घड़ी नहीं लगानी चाहिए। वास्तु के अनुसार दरवाजे के ऊपर लगी घड़ी घर में तनाव बढ़ाती है।

3. घर के भीतर बंद घड़ी से होने वाला बड़ा दोष अक्सर दुर्भाग्य का बड़ा कारण बनता है, इसलिए भूलकर भी घर में बंद घड़ी नहीं रखना चाहिए।

4. सिर्फ बंद घड़ी ही नहीं बल्कि गलत समय बताने वाली घड़ी भी वास्तु दोष उत्पन्न करती है। ऐसे में या तो घड़ी को सही करवाकर उसका टाइम सही करवा दें या फिर उसे घर से बाहर निकाल दें।

5. वास्तु के अनुसार घर में बहुत गहरे रंग जैसे काले, नीले आदि की घड़ी को लगाने से भी बचना चाहिए, क्योंकि ऐसे रंग नकारात्मक ऊर्जा फैलाते हैं।

कहां और कैसी लगाएं घड़ी?
1. वास्तु के अनुसार घर में घड़ी हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा में लगाना चाहिए। वास्तु के अनुसार पूर्व और उत्तर दिशा में सकारात्मक ऊर्जा प्रवाह होता है।

2. इसी प्रकार घर में घड़ी को लगाते समय उसके आकार पर भी ध्यान देना चाहिए। वास्तु के अनुसार घर की दीवार पर लगाई जाने वाली घड़ी का आकार हमेशा गोलाकार या फिर चौकोर होना चाहिए।

3. इसी प्रकार पेंडुलम वाली घड़ी को भी अत्यंत शुभ माना जाता है। वास्तु के अनुसार ऐसी घड़ी घर में प्रेम, प्रगति और सामंजस्य लाती है।

4. नुकीले आकार वाली घड़ी को घर में लगाने से बचना चाहिए।

पंडित मनोज कृष्ण शास्त्री

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें
जोतिर्विद वास्तु दैवज्ञ
पंडित मनोज कृष्ण शास्त्री
9993874848

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

sixteen + seventeen =