उत्तर प्रदेश : गोंडा में तीन दलित नाबालिग बहनों पर एसिड से हमला

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के तमाम प्रयासों के बावजूद राज्य में महिला अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसी कड़ी में गोंडा में सोमवार को सोते समय तीन लड़कियों पर एसिड (केमिकल) फेंकी गई है। इसमें तीनों लड़कियां झुलस गयी हैं। पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि गोंडा जिले में थाना परसपुर के पसका गांव में सोमवार रात एक परिवार की तीन बेटियां छत पर सो रही थीं।

तभी किसी एक व्यक्ति ने तीनों पर एसिड से हमला कर दिया। जिसमें तीनों बच्चिां झुलस गयी हैं। यह केमिकल क्या है इसकी छानबीन हो रही है। उनका इलाज सरकारी अस्पताल में चल रहा है। तीनों बच्चियों की हालत अभी ठीक है। सबसे बड़ी लड़की 30 प्रतिशत तक जली है, दूसरी 20 प्रतिशत और तीसरी 7 प्रतिशत है। तीनों नबालिग हैं। अभी घटना का अंजाम देने वाले शख्स का कोई पता नहीं चला है। मौके पर फोरंसिक टीम और डाग स्क्वायड लगी है। तीनों बहनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया । यहां पर बड़ी बहन का इलाज किया जा रहा है। एसिड अटैक में उसका चेहरा झुलस गया है। बाकी दो बहनों को अस्पताल में प्राथमिक उपचार दिया गया।

पिता का बयान- गांव में किसी से रंजिश नहीं थी
पीड़ित पिता का कहना है कि घटना के बाद उन्हें लगा कि शायद सिलिंडर की आग में बेटियां झुलस गई हैं। मगर बाद में पता चला कि किसी अज्ञात शख्स ने तेजाब से हमला किया है। पिता का कहना है, ‘जब तेजाब पड़ा तो बेटी चिल्लाई। आवाज सुनकर मैंने दरवाजा खोला। बेटी को गोद में लिया और पूछा कि क्या सिलिंडर से आग लग गई है तो उसने कहा नहीं। घटना के वक्त मैं सो रहा था। एक बेटी 17 साल की है, एक 12 और एक 8 साल की है।’ पीड़ित पिता का कहना है कि उन्हें किसी पर शक नहीं है। आज तक गांव में किसी से रंजिश नहीं रही है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × one =