हावड़ा : 9 अगस्त ‘स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव काव्य श्रृंखला’ के अंतर्गत ‘राष्ट्रीय कवि संगम’ की तृतीय काव्य गोष्ठी हावड़ा जिला इकाई द्वारा शान्ति विद्यालय के सभागार में प्रान्तीय महामंत्री राम पुकार सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसका कुशल संचालन युवा कवि देवेश मिश्रा ने किया। रुपम मेहता के मधुर सरस्वती वन्दना की प्रस्तुति के साथ कार्यक्रम का शुभारम्भ हुआ। कार्यक्रम – संयोजक जिला उपाध्यक्ष अंजनी कुमार राय ने उपस्थित रचनाकारों और श्रोताओं का स्वागत करते हुए कहा कि रचनाओं में राष्ट्र जागरण का भाव आज के समय की माँग है। राष्ट्रीय कवि संगम युवाओं को तलाशने और तराशने का काम बखूबी कर रही है।

इस तरह के सांस्कृतिक आयोजनों से युवाओं में संस्कार की अविरल धारा निरंतर बहती रहती है। इस गोष्ठी में रचनाकारों ने तिरंगा और राष्ट्र धर्म के साथ-साथ देश के लिये शहादत देने वाले वीर सपूतों पर शानदार प्रस्तुति देकर श्रोताओं की वाह-वाही बटोरी। एक ओर विष्णुप्रिया त्रिवेदी ने – “उन वीरों की जय हो” से काव्य पाठ का आग़ाज़ किया तो वंदना पाठक ने – “हम घर-घर तिरंगा फहरायेंगे” सुनाकर सभी का दिल जीत लिया। डाॅ. अरविन्द कुमार मिश्र ने भोजपुरी कविता “मंजिल पर पहुँचे के बा तs/मुस्कराय के तू कदम बढा” सुनाया तो डाॅ. मनोज मिश्र ने अपनी कविता में मोबाइल की उपयोगिता को दर्शाया।

देवेश मिश्र ने ‘आज़ादी के अमृत महोत्सव’ पर ओज की कविता के माध्यम से देशभक्ति की जोश जगाई तो रुपम मेहता और प्रदीप धानुक ने राष्ट्रीय भक्ति से ओत-प्रोत कविता सुनाकर श्रोताओं को राष्ट्र भक्ति से सराबोर कर दिया। जहाँ कोकिल कंठी हिमाद्रि मिश्रा ने “अब वाणी में अंगार चाहिए धमनी में उबाल चाहिए” सुनाकर सभी को झूमने पर मजबूर कर दिया तो वही पुकार “गाजीपुरी” की लाजबाब गजल “जिन्दगी के गीत में संगीत लाना है जरूरी/पाठ राष्ट्र धर्म का अब तो पढ़ाना है जरुरी।” को सुन – सुनकर श्रोताओं की तालियाँ अनवरत बजती रही।

इस शुभ अवसर पर कार्यक्रम के मार्गदर्शक प्रांतीय अध्यक्ष डॉ. गिरधर राय ने अस्वस्थ होने के कारण वीडिओ कॉल के माध्यम से सभी काव्य प्रेमियों और आयोजकों को भव्य कार्यक्रम के लिये अपनी शुभकामनायें दी। अपने अध्यक्षीय वक्तव्य में राम पुकार सिंह ने राष्ट्र धर्म जागरण हेतु ऐसे काव्य गोष्ठियों के आयोजन पर बल देते हुए कार्यक्रम की भूरि-भूरि प्रशंसा की। अंत में जिला मंत्री सन्तोष कुमार तिवारी ने डॉ. गिरधर राय के मार्गदर्शन और जिलाध्यक्ष के नेतृत्व क्षमता का आभार जताते हुए रचनाकारों सहित सभी श्रोताओं को धन्यवाद ज्ञापन कर यह अभूतपूर्व कार्यक्रम सुसम्पन्न किया।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − five =