यूजीसी ने दी इजाजत, देशभर में खुल सकते हैं उच्च शिक्षण संस्थान, कोरोना गाइड लाइन का करना होगा पालन

फोटो : गुगल

दिल्ली। देश के उच्च शिक्षण संस्थान व विश्वविद्यालय अब छात्रों के लिए खोले जा सकते हैं। यूजीसी ने इसके लिए इजाजत प्रदान की है। हालांकि विश्वविद्यालयों या कॉलेजों को खोलने से पहले शिक्षा मंत्रालय एवं स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा तय की गई गाइडलाइन का पालन सुनिश्चित करना होगा। यूजीसी का यह निर्देश देश के सभी उच्च शिक्षण संस्थानों के लिए है। इस निर्देश के मुताबिक मौजूदा हालात के मद्देनजर शिक्षण संस्थान रिओपनिंग और फिजिकल क्लासेस शुरू करने का निर्णय ले सकते हैं। यूजीसी के निर्देशों के बाद दिल्ली में स्थित तीनों बड़े केंद्रीय विश्वविद्यालय- दिल्ली यूनिवर्सिटी, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय और जामिया मिलिया इस्लामिया में रिओपनिंग शुरू होने जा रही है। दिल्ली विश्वविद्यालय 17 फरवरी से सभी कक्षाओं की ऑफलाइन क्लास शुरू करने जा रहा है। इसमें अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट दोनों पाठ्यक्रम शामिल है।

वहीं जामिया दो चरणों विश्वविद्यालय रीओपनिंग करने का निर्णय ले चुका है। इसके तहत पहले अंतिम वर्ष के रिसर्च स्टूडेंट के लिए कैंपस खोला जाएगा। यह रिओपनिंग अगले सप्ताह से शुरू हो जाएगी। इसके उपरांत अगले चरण में जामिया मिलिया इस्लामिया के छात्रों हेतु विश्वविद्यालय में ऑफलाइन कक्षाएं शुरू करेगा।

दिल्ली विश्वविद्यालय में ऑफलाइन कक्षाएं तो 17 फरवरी से शुरू हो जाएंगी। हालांकि दिल्ली के बाहर से आने वाले छात्रों को कक्षाओं में शामिल होने के लिए 17 फरवरी से पहले ही दिल्ली पहुंचना होगा। ऑफलाइन कक्षा में शामिल होने के इच्छुक इन छात्रों को दिल्ली पहुंचने के उपरांत 3 दिन आइसोलेशन में रहना होगा। इसके बाद ही वे ऑफलाइन कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं।

दिल्ली विश्वविद्यालय ने सभी छात्रों के लिए निर्देश जारी करते हुए कहा है कि दिल्ली के बाहर से आ रहे छात्रों को अपनी यात्रा का प्लान बनाते समय इन नियमों का ध्यान रखना चाहिए। विश्वविद्यालय का कहना है कि छात्र इस प्लानिंग के साथ दिल्ली पहुंचे जिससे कि वह अपने कॉलेज में रिपोटिर्ंग करने से पहले ही 3 दिन का आइसोलेशन पीरियड पूरा कर चुके हों।

छात्रों के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय कैंपस खोला जा रहा। प्रत्येक कालेज में ऑफलाइन कक्षा भी शुरू की जानी हैं, हालांकि डीयू में मार्च एवं अप्रैल महीने में होने वाली परीक्षाएं फिलहाल ऑनलाइन ली जाएंगी। यह ऑनलाइन परीक्षाएं ओपन बुक परीक्षा (ओबीई) मोड में ली जाएंगी। दिल्ली विश्वविद्यालय के डीन एग्जामिनेशन प्रोफेसर डीएस रावत ने इस विषय में आधिकारिक जानकारी देते हुए बताया कि परीक्षा के लिए कार्य समूह की सिफारिशों के आधार पर यह निर्णय लिया गया है। प्रोफेसर रावत ने बताया कि इस वर्ष मार्च और अप्रैल माह के दौरान सभी परीक्षाएं ओपन बुक परीक्षा (ओबीई) मोड में होंगी।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

8 + ten =