प्रवासी श्रमिक के आत्महत्या मामले में दो पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई

प्रतीकात्मक फोटो, साभार : गूगल

बीरभूम : बंगाल के बीरभूम जिले में 21 वर्षीय एक प्रवासी श्रमिक ने आत्महत्या कर ली। श्रमिक पर उसके पड़ोसी ने चोरी का आरोप लगाया था जिसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में लिया। व्यक्ति के परिवारवालों ने पुलिस पर हिरासत में उसे पीटने का आरोप लगाया है। पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह ने बताया कि लोकपुर पुलिस थाने के प्रभारी रमेश मंडल को डूटी से मुक्त किया गया है और अन्य अधिकारी सरोज घोष को इस घटना के संबंध में निलंबित कर दिया गया।

दोनों के खिलाफ विभागीय जांच शुरू की गई है।’’सौविक गराई नाम का व्यक्ति मंगलवार सुबह रुपोशपुर गांव स्थित अपने घर में फांसी से लटकता हुआ मिला था। इससे इलाके में तनाव पैदा हो गया। मृतक के परिवार का कहना है कि व्यक्ति पर पड़ोस की एक मिठाई दुकान के मालिक ने चोरी का आरोप लगाया था,

जिसके बाद पुलिस उसे ले गई और हिरासत में उसके साथ मार-पीट की गई। सौविक के घरवालों का कहना है कि वह पूरी घटना से शर्मसार था इसलिए उसने आत्महत्या कर ली। सौविक के पिता ने कहा कि उनका बेटा गुजरात में मजदूरी करता था और एक महीने पहले ही घर लौटा था।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 + nineteen =