प्रतिकात्मक फोटो, साभार गूगल

कोलकाता। बंगाल के बांकुड़ा जिले में एक छात्र ने रैगिंग से परेशान होकर ट्रेन से कटकर जान दे दी। मृतक का नाम सुप्रकाश बेरा (20) है। वह पश्चिम मेदिनीपुर जिले के झालदा थानांतर्गत थानेश्वर ग्राम का रहने वाला था और बिधान चंद्र कृषि विश्वविद्यालय में द्वितीय वर्ष का छात्र था। उसके पिता स्वदेश कांति बेरा का आरोप है कि तृतीय वर्ष के छात्र सुप्रकाश को शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित करते थे। उसके बाल तक काट देते थे। सुपरकाश ने कई बार उन्हें ये सारी बातें बताई थीं। उन्हें इस बात का अंदाजा नहीं था कि उनका बेटा इन सब चीजों से मानसिक रूप से इतना परेशान हो गया है कि आत्महत्या जैसा कदम उठा लेगा।

स्वदेश कांति बेरा ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए बांकुड़ा सम्मिलनी मेडिकल कालेज अस्पताल भेज दिया है और मामले की जांच कर रही है। खबर लिखे जाने तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई थी। पुलिस मृतक के सहपाठियों से पूछताछ कर रही है। पुलिस ने अस्वाभाविक परिस्थितियों में मौत का मामला दर्ज किया है।

एक अधिकारी ने बताया कि प्रथम दृष्टया यह आत्महत्या का ही मामला लग रहा है लेकिन इस बात को भी खंगाला जा रहा है कि यह कहीं दुर्घटना तो नहीं। मृतक के परिजनों का कहना है कि कृषि विश्वविद्यालय में भर्ती होने के बाद से ही सुप्रकाश बेहद तनाव में रहता था। सुप्रभात बेहद मेधावी छात्र था लेकिन रैगिंग का शिकार होने की वजह से उसकी पढ़ाई पर काफी असर पड़ रहा था। परिजनों ने कहा कि उसकी रैगिंग करने वाले तृतीय वर्ष के छात्रों की पहचान कर उनके खिलाफ पुलिस को कार्रवाई करनी चाहिए।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve + 9 =