Tokyo Paralympic : शूटर नरवाल ने जीता सोना, अडाना को रजत

टोक्यो। भारतीय निशानेबाजों मनीष नरवाल और सिंहराज अडाना ने टोक्यो पैरालम्पिक्स में शनिवार को निशानेबाजी की पुरुषों की पी 4 मिश्रित 50 मीटर पिस्टल एसएच 1 स्पर्धा में क्रमशः स्वर्ण और रजत पदक जीत लिया। इन दो पदकों के साथ इन खेलों में भारत की पदक संख्या 15 पहुंच गयी है। 19 वर्षीय नरवाल ने फ़ाइनल में 218.2 के स्कोर का पैरालम्पिक रिकॉर्ड बनाया और स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

इस बीच अडाना ने 216.7 के स्कोर के साथ रजत पदक अपने खाते में डाला। अडाना का इन खेलों में यह दूसरा पदक है। उन्होंने इससे पहले मंगलवार को पी 1 पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल एसएच 1 स्पर्धा में कांस्य पदक जीता था। रूसी ओलम्पिक समिति के सर्जेई मलयशेव ने 196.8 के स्कोर कर कांस्य पदक जीता।

इससे पहले दोनों भारतीय निशानेबाजों ने क्वालिफिकेशन राउंड में भी अच्छा प्रदर्शन करते हुए फ़ाइनल में जगह बनायी। अडाना ने 536 के स्कोर के साथ चौथे और नरवाल ने 533 के स्कोर के साथ सातवें स्थान पर रहते हुए फ़ाइनल में प्रवेश किया। एक अन्य भारतीय निशानेबाज आकाश क्वालिफाइंग राउंड में 27वें स्थान पर रहे।

खेलमंत्री ने दी बधाई : युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने टोक्यो पैरा ओलंपिक खेलो में स्वर्ण पदक विजेता मनीष नरवाल और रजत पदक विजेता सिंहराज अडाना को बधाई दी है। ठाकुर ने ट्वीट कर कहा “भारत ने स्वर्ण पर प्रहार किया। मनीष नरवाल की यह शानदार जीत है। उन्हें इस श्रेणी में विश्व रिकॉर्ड बनाने पर भी बधाई।

उन्होंने मिश्रित 50 मीटर पिस्टल एसएच 1 की फ़ाइनल स्पर्धा में नया पैरालंपिक रिकॉर्ड कायम किया है।” उन्होंने श्री अडाना को बधाई देते हुए कहा “भारत के लिए पदकों की बारिश हो रही है। भारत के लिए 15 वां पदक। रजत जीतकर ‘शानदार सिंहराज’ ने रचा इतिहास। मिश्रित 50 मीटर पिस्टल एस एच फ़ाइनल में दूसरा पदक।”

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty + nine =