नयी दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने कोविड संक्रमण के इलाज के लिये मंगलवार को और तीन दवा कोर्बेवेक्स टीके, कोवोवेक्स टीके और एंटी वायरल दवा मोलनुपीराविर के प्रयोग को मंजूरी दी। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडविया ने यहां जारी एक ट्वीट श्रंखला में यह जानकारी देते हुए कहा कि कोविड से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिये एक दिन में ही और तीन दवा को मंजूरी दी गयी है। इसके लिए भारत को बधाई है।

मांडविया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कोविड के विरुद्ध सभी मोर्चों पर लड़ाई लड़ी जा रही है। तीनों दवाओं को मिले अनुमोदन से कोरोना के खिलाफ वैश्विक संघर्ष को मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा, “हमारा दवा उद्योग पूरी दुनिया के लिए एक बहुमूल्य संपदा है। सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामयाः।” मंत्रालय के अधीन सीडीएससीओ ने कोविड के रोगियों के इलाज के लिए एक दिन में तीन दवा कोर्बेवेक्स , कोवोवेक्स टीके तथा एंटी वायरल मोलनुपीराविर का अनुमोदन किया है। इनका प्रयोग आपात स्थिति में होगा।

कोर्बेवेक्स का निर्माण हैदराबाद की कंपनी बायोलॉजिकल -ई ने किया है। यह तीसरा भारतीय कोविड रोधी टीका है। यह आरबीडी प्रोटीन आधारित है। कोवोवेक्स टीके का निर्माण पुणे में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में होगा। यह नैनो पार्टिकल पर आधारित है। एंटी वायरल दवा मोलनुपीराविर का निर्माण देश में 13 कंपनी करेंगी। इसका प्रयोग वयस्क कोविड मरीजों के इलाज के लिए किया जाएगा।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two − one =