कोलकाता । घुटनों में दर्द की समस्या को दूर करने के लिए आयुर्वेद में कई उपाय हैं, जानें घुटनों के दर्द का आयुर्वेदिक इलाज। घुटनों में दर्द की समस्या से लोग आए दिन परेशान रहते हैं। खासकर यह समस्या 40 से अधिक उम्र के लोगों में इन दिनों बहुत आम हो गई है। घुटनों में दर्द की समस्या के कई कारण हो सकते हैं। उम्र बढ़ने के साथ हड्डियां कमजोर और घुटने कमजोर होने लगते हैं। साथ ही घुटनों, मांसपेशियों और नसों में सूजन के कारण भी घुटनों में दर्द की समस्या हो सकती है। लेकिन इसका एक बड़ा कारण फिजिकल एक्टिविटी न करना भी है।

इसके अलावा कई अन्य कारक भी घुटनों के दर्द के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। घुटनों में दर्द होने पर लोगों का चलने-फिरने, उठने-बैठने से लेकर दिनभर के सामान्य कार्य करना भी मुश्किल हो जाता है। यही कारण है कि घुटनों को हेल्दी रखना भी महत्वपूर्ण है। हमारे पूरे शरीर का भार साधने में हमारे घुटने अहम भूमिका निभाते हैं। घुटनों के दर्द से छुटकारा पाने के लिए लोग तरह-तरह के घरेलू नुस्खे आजमाते हैं, लेकिन दर्द से छुटकारा नहीं मिलता है।

लेकिन क्या आप जानते हैं घुटनों के दर्द से छुटकारा दिलाने में आयुर्वेद आपकी मदद कर सकता है? आयुर्वेद में कई ऐसे उपाय मौजूद हैं, जो घुटनों के दर्द से आपको जल्दी राहत प्रदान कर सकते हैं। इस लेख में हम आपको घुटनों के दर्द के लिए 5 आयुर्वेदिक उपाय बता रहे हैं।

घुटनों के दर्द के लिए आयुर्वेदिक उपचार :-
1. कैल्शियम से भरपूर फूड्स खाएं : ऐसे फूड्स का सेवन अधिक करें जिनमें कैल्शियम की प्रचुर मात्रा होती है, क्योंकि यह आपके हड्डियों और जोड़ों को मजबूत बनाने में सहायता करता है। इसके लिए आप डेयरी प्रोडक्ट्स जैसे दूध, दही, छाछ, पनीर, चना, राजमा, सोयाबीन आदि जैसे फूड्स का सेवन कर सकते हैं।

2. वजन कंट्रोल रखें : घुटनों में दर्द फैट जमने या शरीर के अधिक वजन के कारण भी होता है, इसलिए शरीर में स्वस्थ वजन को बनाए रखने की कोशिश करें। बहुत ज्यादा तला-भुना, भारी नाश्ता, स्मोकिंग और अल्कोहल के सेवन से सख्त परहेज करें, जो आपके पाचन को नुकसान पहुंचाते हैं और वजन बढ़ाने में योगदान देते हैं।

3. हल्दी का सेवन करें : हल्दी एक बेहतरीन जड़ी-बूटी है। हल्दी में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण सूजन से लड़ने में बहुत प्रभावी होते हैं। जिससे यह दर्द से राहत प्रदान करती है। आप इसे भोजन में मसाले के तौर पर, गर्म पानी में हल्दी डालकर या हल्दी वाले दूध का सेवन कर सकते हैं।

4. शल्लकी का सेवन करें : हल्दी की तरह शलल्की का सेवन भी घुटनों के दर्द से राहत प्रदान करने में मददगार साबित हो सकता है। आप शल्लकी को पानी में उबालकर इसका काढ़ा बनाकर पी सकते हैं।

5. काली मिर्च का सेवन करें : अगर घुटनों में दर्द का कारण चर्बी या फैट है तो ऐसी स्थिति में दर्द से राहत प्रदान करने में काली मिर्च का सेवन बहुत लाभकारी है। आप इसे भोजन से शामिल कर सकते हैं, सलाद या ड्रिंक्स में डालकर इसका सेवन कर सकते हैं।

6. अदरक का सेवन करें : जोड़ों में दर्द की समस्या में अदरक का सेवन भी बहुत लाभकारी है। यह सूजन से लड़ने और दर्द को कम करने में मदद करती है। आप अदरक का काढ़ा या चाय बनाकर इसका सेवन कर सकते हैं।

अन्य उपाय : आप उपरोक्त बताई गई जड़ी-बूटियों को एक साथ पानी में उबालकर, इनके काढ़े का सेवन कर सकते हैं। इससे दर्द से जल्द छुटकारा पाने में मदद मिलेगी। आप दिन 2-3 बार इसका सेवन कर सकते हैं।

डॉक्टर से परामर्श करें : घुटनों में दर्द बहुत अधिक होने पर किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर से परामर्श करें। आयुर्वेद में दर्द की समस्या दूर करने के लिए कई चिकित्सीय प्रक्रियाएं मौजूद हैं जैसे :
जानू बस्ती (Janu basti)
ग्रीवा बस्ती (Greeva basti)
कटि बस्ती (Kati basti)
अग्निकर्म (Agnikarma)
विधि कर्म (Vidhi karma)
मर्म चिकित्सा (Marma chikitsa)

जोड़ों में दर्द की समस्या ऊँची एड़ी के जूते पहनने या घुटनों पर अतिरिक्त भार डालने के कारण भी होती है, इसलिए इससे बचें। संतुलित आहार लें, फिजिकल रूप से एक्टिव रहें, गलत फुटवियर न पहनें। साथ ही खराब मुद्रा में बैठने से बचें, क्योंकि यह आपके घुटनों को कमजोर बनाते हैं और घुटनों में दर्द का कारण बनते हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × five =