टकराव के कगार पर खड़ी है दुनियाः गुटेरेस

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा है कि दुनिया एक नए प्रकार के नरम टकराव के कगार पर खड़ी है, जो शीत युद्ध से भी बदतर है। गुटेरेस ने संरा महासभा में 2022 के लिए प्राथमिकताएं प्रस्तुत करते हुए दुनिया की वर्तमान स्थिति के बारे में पांच मुद्दे उठाए। उनकी प्रस्तुति के बाद प्रेस वार्ता में जब उनसे पूछा गया कि क्या दुनिया “द्वितीय शीत युद्ध” के कगार पर खड़ी है, तो उन्होंने इसके जवाब में कहा कि दुनिया द्वितीय शीत युद्ध के कगार पर नहीं है, बल्कि उससे भी बुरी स्थिति है।उन्होंने कहा, “कगार (द्वितीय शीत युद्ध ) पर नहीं, लेकिन हम एक नया रूप देख रहे हैं।

मैं इसे शीत युद्ध नहीं कहूंगा। मैं इसे गर्म युद्ध नहीं कहूंगा। मैं इसे शायद टकराव का नया रूप कहूंगा।” उन्होंने कहा कि शीत युद्ध के कुछ निश्चित नियम थे। यह दो समूहों के बीच था। दोनों समूहों में से प्रत्येक का अपना सैन्य गठबंधन था और संघर्ष की रोकथाम के स्पष्ट तंत्र था। उन्होंने कहा, “जिस तरह से शीत युद्ध अस्तित्व में था, उसके बारे में एक निश्चित स्तर की भविष्यवाणी थी। अब हम बहुत अधिक अराजक है, बहुत कम अनुमान है। हमारे पास संकट से निपटने के लिए कोई उपकरण नहीं है। वास्तव में, हम एक खतरनाक स्थिति में रहते हैं। “

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − six =