तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर । कोविड के बाद ट्रेन का चलना सामान्य हो गया है। लेकिन रेलवे के ठेकेदार मजदूरों की रोजी-रोटी सामान्य नहीं हो रही है। खड़गपुर संभाग में कई ठेकेदार श्रमिक अभी भी काम पर नहीं लौट पाए है। इन्हीं मुद्दों पर आज रेलवे कांट्रैक्टर लेबर्स यूनियन के बैनर तले डीआरएम ऑफिस के समक्ष विरोध प्रदर्शन का कार्यक्रम आयोजित किया गया था।

प्रमुख मांगों में खड़गपुर स्टेशन के सीटीएस एवं वाटरिंग बॉयज के कार्य निविदा में तेजी लाना। एक अगस्त से रेलवे बॉक्स बॉय की छंटनी पर रोक, रेलवे लाइन पर कार्यरत सभी कर्मचारियों की वेतन वृद्धि एवं कर्मचारियों को पीएफ एवं ईएसआई के उचित भुगतान आदि शामिल था।

भाषण समाप्त होने के बाद वासुदेव आचार्य बीमार पड़ गए और उन्हें खड़गपुर अनुमंडल अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसलिए डीआरएम को प्रतिनियुक्ति नहीं की जा सकी। आज की बैठक में वक्ता थे- पूर्व सांसद और रेलवे की स्थायी समिति के अध्यक्ष कॉमरेड वासुदेव आचार्य, सिहरन आचार्य, दिलीप डे विजय जाना, तथा अनिल दास और अन्य शामिल थे।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × five =