काली दास पाण्डेय, कोलकाता । मंगलवार को कोलकाता के नज़रूल मंच में गुरुदास कॉलेज के उत्सव के लिए एक संगीत कार्यक्रम में प्रदर्शन करते समय केके का अचानक गिर जाना उनके लिए जानलेवा साबित हुआ। उनको बेहतर इलाज के लिए 31 मई, मंगलवार को ही रात करीब साढ़े दस बजे जब उन्हें कलकत्ता मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीएमआरआई) लाया गया तो उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। डॉक्टरों की टीम ने मौत की वजह हार्ट अटैक बताया है। 53 वर्षीय केके के निधन से पूरी फिल्म इंडस्ट्री में शोक का माहौल पैदा हो गया है। पूरे बॉलीवुड को रुला गया केके का जाना।

90 के दशक से अब तक के भारत के सबसे चर्चित गायकों में से एक, कृष्णकुमार कुन्नाथ उर्फ केके का पालन-पोषण नई दिल्ली में हुआ था। केके ने बॉलीवुड में कदम रखने से पहले 3500 जिंगल गाए थे। उन्होंने 1999 के क्रिकेट विश्व कप के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के समर्थन के लिए ‘भारत के जोश’ गीत में अपना स्वर दिया था। केके ने 1991 में अपने बचपन के प्यार ज्योति से शादी की। उनके बेटे नकुल कृष्ण कुन्नाथ ने उनके साथ उनके एल्बम ‘हमसफर’ में गाया था। केके की एक बेटी भी है जिसका नाम तमारा कुन्नाथ है, जो पियानो बजाना पसंद करती हैं।

गायक किशोर कुमार और संगीत निर्देशक आर.डी. बर्मन को अपना आदर्श मानने वाले सिंगर केके हिंदी, तमिल, तेलगु, कन्नड़, मलयालम, मराठी, बंगाली और गुजराती भाषाओं की फिल्मों के चर्चित गायक थे। 23 अगस्त 1968 को दिल्ली में जन्मे केके माइकल जैक्सन, बिली जोएल, ब्रायन एडम्स, लेड जेपेलिन जैसे अंतरराष्ट्रीय गायक और बैंड से काफी प्रभावित थे। सबसे खास बात यह है कि केके ने कभी भी संगीत का कोई औपचारिक प्रशिक्षण नहीं लिया था। 1994 में मुम्बई पहुँच कर उन्होंने संगीत के क्षेत्र में एक ब्रेक पाने के लिए लुइस बैंक्स, रंजीत बरोट, लेस्ली लुईस को अपना म्यूजिक डेमो टेप दिया उसके बाद ही यूटीवी से उन्हें ब्रेक मिला था। उनका पहला एल्बम ‘पल ‘अप्रैल 1999 में रिलीज़ हुआ था। एल्बम में उनके प्रदर्शन को सर्वश्रेष्ठ पुरुष गायक के लिए स्क्रीन इंडिया से स्टार स्क्रीन अवार्ड मिला था।

केके को एआर रहमान के हिट गीत ‘कल्लूरी साले’ और ‘हैलो डॉ’ के साथ पार्श्व गायक के रूप में पेश किया गया था। कादिर के ‘कधल देशम’ से और फिर उसके बाद एवीएम प्रोडक्शंस की संगीतमय फिल्म ‘मिनसारा कानावु ‘(1997) से ‘स्ट्रॉबेरी कन्ने’। उन्हें बॉलीवुड में ब्रेक ‘तड़प तड़प’ हम दिल दे चुके सनम (1999) से मिला था। इस गाने के पूर्व केके ने गुलजार की फिल्म ‘माचिस’ का गीत ‘छोड़ आए हम…’ के संक्षिप्त हिस्से में अपना स्वर दिया था। टेलीविजन की बात करें तो केके ने 2008 में हम टीवी पर प्रसारित होने वाले पाकिस्तानी टीवी शो ‘द घोस्ट ‘के लिए ‘तन्हा चला’ नामक एक गीत भी गाया। इस गीत को फारुख आबिद और शोएब फारुख ने संगीतबद्ध किया था और मोमिना दुरैद ने गीत लिखे थे। इसके साथ ही केके ने ‘जस्ट मोहब्बत’, ‘शाका लाका बूम बूम’, ‘कुछ झुकी सी…’, ‘हिप हिप हुर्रे’ और ‘काव्यांजलि’ जैसे कई टेलीविजन सीरियल गाने भी गाए हैं।

उन्होंने श्रेया घोषाल के साथ स्टार परिवार पुरस्कार 2010 के लिए थीम गीत भी गाया है। केके टेलीविजन पर भी नजर आए। उन्हें टैलेंट हंट शो फेम गुरुकुल के लिए जूरी सदस्य के रूप में आमंत्रित किया गया था। 29 अगस्त 2015 को केके टेलीविजन गायन रियलिटी शो इंडियन आइडल जूनियर सीजन 2 में भारत के उभरते गायकों को खुश करने के लिए दिखाई दिए, जहां उन्होंने ‘खुदा जाने’, ‘मेरा पहला पहला प्यार’, ‘मेक सम नॉइज़ फॉर द देसी बॉयज़’ का प्रदर्शन किया। ‘अजब सी’, ‘सच कहता है दीवाना’ और जूनियर प्रतिभाओं के साथ कई और गाने और विशाल ददलानी के साथ ‘तू आशिकी है’, सलीम मर्चेंट के साथ ‘आशाएं’ और सोनाक्षी सिन्हा के साथ ‘तड़प तड़प’।

10 साल बाद, वह एक सिंगिंग रियलिटी शो में जज और गेस्ट जूरी सदस्य के रूप में भी दिखाई  देने के साथ साथ 13 सितंबर 2015 को, केके सोनी मिक्स पर ‘बातों बातों में’ में भी नज़र आए थे। अपने फिल्मी करियर के शुरुआती दौर से ही केके अपने जीवन काल मे स्टेज शो के प्रति काफी गंभीर थे। भारत के अलावा विदेशों में भी उनका म्यूजिकल लाइव शो काफी लोकप्रिय था। आज भले ही सिंगर केके हमारे बीच नहीं हैं लेकिन अपने मधुर हृदयस्पर्शी गीतों के जरिये युगों युगों तक संगीत प्रेमियों के दिलों में कायम रहेंगे।IMG_20220601_011339

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

16 − 4 =