सियोल। दक्षिण कोरिया के एक सामाजिक कार्यकर्ता ने दावा किया कि उन्होंने कोविड-19 राहत सामग्री के साथ बड़े-बड़े गुब्बारे उत्तर कोरिया की ओर छोड़े हैं।  ये गुब्बारे तब छोड़े गए हैं जब कुछ दिनों पहले उत्तर कोरिया ने ऐसी गतिविधियों से सख्ती से निपटने का आह्वान किया और इन्हें संक्रमण का स्रोत बताया था। दक्षिण कोरिया के विशेषज्ञों ने गुब्बारों को संक्रमण के लिए जिम्मेदार बताने के उत्तर कोरिया के बयानों पर संदेह जताया और कहा कि इसका मकसद दक्षिण कोरिया विरोधी भावनाओं को भड़काना और संक्रमण से निपटने में नाकामी को लेकर जनता की शिकायतों को शांत करना है।

उत्तर कोरिया छोड़कर दक्षिण कोरिया आए सामाजिक कार्यकर्ता पार्क सैंग-हाक ने कहा कि उनके समूह ने बुधवार को दक्षिण कोरिया के एक सीमावर्ती शहर से 2,000 मॉस्क और विटामिन सी तथा बुखार कम करने वाली हजारों गोलियां रखकर 20 गुब्बारों को भेजा है। उन्होंने कहा कि पिछले महीने दो बार ऐसी ही राहत सामग्री के साथ सीमा पार गुब्बारे छोड़े गए थे। उत्तर कोरिया ने मई में कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के फैलने की बात स्वीकार की थी। तब उसके सरकारी मीडिया ने बताया कि संक्रमण के कारण करीब 48 लाख लोगों को बुखार हुआ और 74 लोगों ने जान गंवाई।

हालांकि, विशेषज्ञों का कहना है कि असल संख्या इससे कहीं अधिक है।  पिछले महीने उत्तर कोरिया के सरकारी मीडिया ने एक अजीबोगरीब बयान में कहा था कि सीमा के समीप एक शहर में ‘‘एलियन जैसी चीजों’’ के संपर्क में आने वाले लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और प्राधिकारियों को ‘‘हवा और अन्य जलवायु संबंधी घटना तथा गुब्बारों से आ रही एलियन जैसी चीजों से पूरी सतर्कता के साथ निपटने’’ के आदेश दिए गए हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 + 20 =