‘भारत के लिए लड़ाई और फैसला 2024 में होगा, किसी राज्य में नहीं’ : प्रशांत किशोर

गोवा । पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में बीजेपी ने चार राज्यों में जीत हासिल की है। लोकसभा चुनाव 2024 के पहले बीजेपी की यह बड़ी जीत मानी जा रही है, लेकिन प्रशांत किशोर ने चुनाव परिणाम के बाद इस जीत को लेकर तंज कसा है। रिजल्ट के बाद प्रशांत किशोर से खोला मुंह, कहा-‘भारत के लिए लड़ाई और फैसला 2024 में होगा, किसी राज्य में नहीं’ यूपी, गोवा, मणिपुर, उत्तराखंड और पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 के चुनाव परिणाम आ गए हैं। यूपी, गोवा, मणिपुर, उत्तराखंड में फिर से बीजेपी सरकार बनने जा रही है। वहीं पंजाब में आम आदमी पार्टी ने धूम मचा दी है। यूपी सहित चार राज्यों में बीजेपी की जीत के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं में भारी उत्साह है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर यूपी के मुख्यमंत्री योगी इस जीत को बड़े स्तर पर पेश कर रहे हैं। चार राज्यों में बीजेपी की जीत के बाद पहली बार चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर का बयान आया है। प्रशांत किशोर ने विधानसभा चुनाव के बाद बीजेपी के उत्साह पर तंज कसते हुए कहा कि भारत के लिए लड़ाई और फैसला 2024 में होगा, किसी राज्य में नहीं। इस कारण इसे लेकर ज्यादा उत्साहित होने की जरूरत नहीं है।

उल्लेखनीय है कि प्रशांत किशोर ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में टीएमसी के साथ थे और उसके बाद से बीजेपी विरोधी पार्टियों को एकजुट करने में कोशिश में जुटे हुए हैं। हाल में गोवा विधासनभा चुनाव के दौरान प्रशांत किशोर ने टीएमसी का साथ दिया था और चुनाव परिणाम के दिन गोवा में ही थे। प्रशांत किशोर ने ट्वीट किया, “भारत के लिए लड़ाई 2024 में लड़ी जाएगी और तय की जाएगी, किसी भी राज्य के चुनाव में नहीं। साहब यह जानते हैं! इसलिए विपक्ष पर एक निर्णायक मनोवैज्ञानिक लाभ स्थापित करने के लिए राज्य के परिणामों के आसपास उन्माद पैदा करने का यह चतुर प्रयास किया जा रहा है। गिरो मत या इस झूठी कथा का हिस्सा मत बनो।”

बता दें कि हाल में निकाय चुनाव के पहले टीएमसी और प्रशांत किशोर के बीच मनमुटाव सामने आया था, लेकिन टीएमसी की राज्य कमेटी की बैठक में प्रशांत किशोर और ममता बनर्जी एक ही मंच पर दिखाई दिए थे। उसके बाद मनमुटाव की अटकलों पर विराम लग गया था। विधानसभा परिणाम के दिन प्रशांत किशोर टीएमसी के महासचिव और सांसद अभिषेक बनर्जी के साथ गोवा में थे और चुनाव परिणाम पर नजर रखे हुए थे।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 − 9 =