कोलकाता। पश्चिम बंगाल के कैबिनेट मंत्री पार्थ चटर्जी की SSC भर्ती घोटाले में गिरफ्तारी के बाद राज्य के कांग्रेस प्रमुख अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhury) ने कहा कि बंगाल में हर कोई इस घोटाले के बारे में जानता था। उन्होंने कहा, कोर्ट के दखल के बाद जांच एजेंसियों ने कार्रवाई शुरू की जिसके बाद सच सामने आया है। हम उम्मीद करते हैं कि इस पूरे मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई हो और उन्हें सज़ा मिले। दरअसल, ये घोटाला तब हुआ जब पार्थ चटर्जी राज्य के शिक्षा मंत्री के पद पर थे। ईडी ने इस पूरे मामले में शनिवार पार्थ चटर्जी पर कार्रवाई करते हुए उन्हें गिरफ्तार किया था।

वहीं, गिरफ्तारी के बाद पार्थ ने तबीयत बिगड़ने से लेकर बेचैनी की शिकायत की, जिसके बाद उन्हें सरकारी एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती कराया। ईडी ने पार्थ के साथ अर्पिता मुखर्जी को भी गिरफ्तार किया है। बता दें, पार्थ चटर्जी की करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट से ईडी को शुक्रवार 21 करोड़ रुपये नकद मिले थे। ईडी ने पहले पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार किया जिसके बाद अर्पिता को भी गिरफ्तार किया गया।

बताया जा रहा है कि अर्पिता के फ्लैट से कुछ विदेश मुद्रा और जेवरात भी बरामद हुए। ईडी के एक अधिकारी ने इस पूरे मामले पर बात करते हुए कहा कि, प्रथम जांच में इस पूरे घोटाले का अर्पिता का संबंध दिख रहा है। वो जब्त रुपयों का स्रोत नहीं बता पा रही है। हम उसे अदालत में पेश करेंगे। बताते चले कि पार्थ चटर्जी के निजी सहायक सुकांत आचार्य को भी हिरासत में लिया गया है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × four =