काली दास पाण्डेय, मुंबई । दूरदर्शन पर प्रसारित रामानंद सागर के टीवी सीरियल रामायण में भगवान श्री राम का किरदार निभाने वाले अभिनेता अरुण गोविल और भजन सम्राट अनूप जलोटा द्वारा गायक एल नितेश कुमार का भजन संग्रह ‘भजन परम्परा’ लांच किया गया। इस भजन संग्रह को टी-सीरीज ने अपने ऑफिसियल यूट्यूब चैनल पर जारी किया है। भजन गायक एल नितेश कुमार द्वारा डिजाइन किया गया एक अनोखा एल्बम है।

भजन परम्परा की प्रथम कड़ी में पिता और पुत्र तथा गुरु शिष्य, भजन सम्राट पद्मश्री पुरुषोत्तम दास जलोटा एवं उनके पुत्र भजन सम्राट पद्मश्री अनूप जलोटा द्वारा बनायी  गयी थी, आज फिर से वही गुरु शिष्य परम्परा को गुरु भजन सम्राट पद्मश्री अनूप जलोटा एवं उनके परम शिष्य एल नितेश कुमार जी के द्वारा दोहराया गया है। इससे स्पष्ट है कि भजन सम्राट अनूप जलोटा जी के भजन विरासत को सिंगर एल नितेश कुमार आगे ले कर जाएंगे।

एल नितेश कुमार द्वारा निर्मित ‘भजन  परम्परा’ में संगीत अनूप जलोटा, डॉ. तापश पॉल, चक्रधारी नायक, एल नितेश कुमार ने दिया है। संगीत संयोजन देवऋषि मुखर्जी ने किया है। सभी भजन विभिन्न भारतीय रागों और ताल में रचित हैं। इस भजन एल्बम में उपयोग किए जाने वाले वाद्य यंत्र हैं, सितार, सरोद, बांसुरी, सारंगी, तबला, डफली, मैंडोलिन, पखवाज, मंजीरा, मोर्सिंग, घाटकम, मंदिर की घंटियाँ आदि, जिससे एक प्राकृतिक संगीतमय सार निकला है। उड़ीसा के मूल निवासी सिंगर एल नितेश कुमार का झारखंड की धरती से भी गहरा जुड़ाव रहा है। अब झारखंड के मंदिरों में भी भजन सम्राट पद्मश्री अनूप जलोटा के साथ चर्चित सिंगर एल नितेश कुमार की आवाज़ भी गूंजेगी।

भजन सम्राट अनूप जलोटा ने ‘भजन परम्परा’ की विस्तृत चर्चा करते हुए कहा कि एल नितेश कुमार भजन गायकी के प्रति बेहद समर्पित कलाकार हैं। नितेश मेरे प्रिया शिष्य हैं इनकी मेहनत और गुरु भक्ति ही इनको आगे ले कर जा रही है। नितेश भारतीय शास्त्रीय संगीत में जितना निपुण हैं, उतना भजन गायकी में भी हैं। आज के समय में जब युवा वेस्टर्न संस्कृति को अपना रहे हैं, नितेश जैसे गुणी कलाकार तुलसी, सूरदास, मीरा, ब्रहमानंद, कबीर के भजनो को आगे लाने के साथ-साथ भारतीय शास्त्रीय संगीत को प्रयोग करके भजन की पराकाष्ठा को और बढ़ा रहे हैं जो कि आने वाली पीढ़ी के लिए एक उपहार स्वरूप है।

अभिनेता अरुण गोविल ने बताया कि भजन का नाम लेते ही अनूप जलोटा का नाम दिलोदिमाग में छा जाता है। टी-सीरीज द्वारा जारी ‘भजन परम्परा’ के लिए अनूप जलोटा और सिंगर एल नितेश कुमार ने स्वर देकर इसे खास बना दिया है। इस भजन संग्रह में इन दोनों का संगीत भी है। इस एल्बम के हर भजन अनमोल है और आगे भी निश्चित रूप से भजन सम्राट अनूप जलोटा जी के भजन की विरासत को उनके शिष्य एल नितेश कुमार ज़रूर आगे बढ़ायेंगे। भारतीय संस्कृति और शास्त्रीय संगीत को एल नितेश कुमार जैसे कलाकारों की ज़रूरत है।

सिंगर एल नितेश कुमार ने कहा कि भगवान राम के चरित्र को स्क्रीन पर साकार करने वाले अरुण गोविल और भगवान श्री राम की स्तुति गाने वाले मेरे गुरु अनूप जलोटा के हाथों मेरे अल्बम ‘भजन परंपरा’ का लॉन्च होना मेरे लिए और मेरे मातृभूमि के वाशियों  के लिए बड़ी बात है। माता, पिता, गुरु और दर्शकों का आशीर्वाद है कि मेरे प्रयासों को सराहा जाता रहा है। इस एल्बम के द्वारा मैंने भारतीय संस्कृति, सभ्यता, साहित्य को एक बार फिर सामने लाने की कोशिश की है। इस अनोखे एल्बम में भारत के महान कवियों और संतों द्वारा लिखे गए 9 अद्वितीय पारंपरिक भजन हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eleven − 6 =