पुणे। डिएंड्रा डॉटिन (62) के शानदार अर्धशतक से सुपरनोवास ने वेलोसिटी को शनिवार को रोमांचक फ़ाइनल में चार रन से हराकर तीसरी बार महिला टी 20 चैलेंज का खिताब जीत लिया। सुपरनोवास ने फ़ाइनल में 20 ओवर में सात विकेट पर 165 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया और वेलोसिटी की चुनौती को 20 ओवर में आठ विकेट पर 161 रन पर थाम लिया। सुपरनोवास ने इससे पहले 2018 और 2019 में यह खिताब जीता था। टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए सुपरनोवास ने 73 रन की अच्छी शुरुआत की लेकिन टीम फिर बड़े स्कोर तक नहीं पहुंच पायी।

प्रिया पुनिया ने 29 गेंदों में दो छक्कों के सहारे 28 रन बनाये। डिएंड्रा डॉटिन 15वें ओवर की आखिरी गेंद पर दीप्ति शर्मा का शिकार बनीं। दीप्ति ने उन्हें बोल्ड किया। डिएंड्रा डॉटिन ने 44 गेंदों पर 62 रन में एक चौका और चार छक्के लगाए। कप्तान हरमनप्रीत कौर ने 29 गेंदों पर 43 रन में एक चौका और तीन छक्के लगाए। उनके बाद कोई भी बल्लेबाज दहाई की संख्या में नहीं पहुंच सकी। सुपरनोवास की पारी में चौथा सर्वाधिक स्कोर नौ अतिरिक्त रनों का रहा। वेलोसिटी की तरफ से केट क्रॉस, दीप्ति और सिमरन दिल बहादुर ने दो-दो विकेट लिए।

दोनों टीमों ने क्या कमाल का क्रिकेट खेला। अंतिम ओवर तक ऐसा लगा कि कुछ भी हो सकता था। आखिरी ओवर में वेलोसिटी को जीत के लिए 17 रन चाहिए थे। सोफ़ी एकलस्टन ने इस ओवर की आखिरी दो गेंदों पर सिर्फ सिंगल दिए जबकि वेलोसिटी को अंतिम गेंद पर जीत के लिए छक्का चाहिए था।
लॉरा वुलफ़ार्ट और सिमरन दिल बहादुर ने नौंवें विकेट के लिए 3.1 ओवर में 44 रन जोड़कर वेलोसिटी को जीत के करीब ला दिया था।

लॉरा वुलफ़ार्ट ने 40 गेंदों पर नाबाद 65 रन में पांच चौके और तीन छक्के लगाए जबकि सिमरन ने 10 गेंदों पर नाबाद 20 रन में तीन चौके और एक छक्का लगाया। शेफाली वर्मा ने 15 और यास्तिका भाटिया ने 13 रन बनाये। वेलोसिटी ने अपना आठवां विकेट 117 के स्कोर पर गंवाया। इसके बाद वुलफार्ट और सिमरन ने टीम को जीत के करीब ले जाने का काम किया लेकिन आखिर में मंजिल उनसे दूर रह गयी।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen + seven =