गोण्डा के सुधीर श्रीवास्तव को मिला शान्ती फाउंडेशन का ‘साहित्य गौरव सम्मान-2022’

गोण्डा, उ.प्र. । उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ कवि/साहित्यकार सुधीर श्रीवास्तव को शान्ती फाउंडेशन गोण्डा, उत्तर प्रदेश द्वारा उनकी साहित्यिक सेवाओं और विश्व कविता दिवस पर आयोजित राष्ट्रीय कवि सम्मेलन में उत्कृष्ट रचना प्रस्तुत करने के लिए “साहित्य गौरव सम्मान -2022” प्रदान कर सम्मानित किया गया है। फाउंडेशन की अध्यक्षा पिंकी देवी, सचिव गया प्रसाद और संयोजक सुनील कुमार आनंद ने आनलाइन सम्मान देते हुए कहा कि वरिष्ठ कवि/साहित्यकार सुधीर श्रीवास्तव को यह सम्मान प्रदान करते हुए कहा कि शान्ती फाउंडेशन परिवार को गौरव की अनुभूति का अहसास हो रहा है। उन्होंने सुधीर श्रीवास्तव को बधाइयां दी और कहा कि आपकी रचनात्मक उपस्थिति से संस्था और आयोजन को बल मिला।

ज्ञातव्य है कि सामयिक परिवेश के मीडिया प्रभारी और बेबाक, सर्वसुलभ, सर्वहितैषी व्यक्तित्व के धनी नवोदित रचनाकारों के लिए सारथी सुधीर श्रीवास्तव विभिन्न राष्ट्रीय/अंतरराष्ट्रीय पटलों/मंचों से 1500 से अधिक सम्मान पत्र प्राप्त कर चुके सुधीर श्रीवास्तव विभिन्न साहित्यिक पटलों में पदाधिकारी भी हैं। यथा सलाहकार सह संरक्षक-कविता कानन साहित्य कला मंच, अधीक्षक -साहित्य प्रकाश रचना मंच, रा.उपाध्यक्ष- अ.भा. साहित्यिक आस्था मंच, अंतरराष्ट्रीय संरक्षक-स्व. हँसराज कक्कड़ स्मृति मंच, संरक्षक-नव साहित्य परिवार भारत, साहित्यकोष (राष्ट्रीय साहित्यकार मंच), नव साहित्य ई मा.पत्रिका, साहित्य एक नजर, राष्ट्रीय गौरव साहित्यिक एवं सांस्कृतिक संस्थान।

मीडिया प्रभारी दल सामयिक परिवेश, महासचिव -प्रयागराज कल्चरल सोसायटी, मीडिया प्रभारी-कुछ बात कुछ जज्बात, संयोजक-अंतरराष्ट्रीय श्रेया क्लब फेसबुक लाइव सहित अनेक साहित्यिक पटलों/मंचों को विशेष रुप से व्यक्तिगत सहयोग भी देते रहते हैं। बुलंदी विश्व रिकॉर्ड कवि सम्मेलन में प्रतिभाग कर ‘काव्यश्री’, अखंड काव्यार्चन, गोल्डेन बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड, ऐतिहासिक अमृत महोत्सव काव्य गोष्ठी के लिए ‘गौरव सम्मान’, ‘कोच काव्य कुँभ 2021’, जय विजय सम्मान 2021, संगम शिरोमणि आदि से सम्मानित सुधीर श्रीवास्तव नेत्रदान का संकल्प कर चुके हैं और देहदान की इच्छा भी रखते हैं।

150 से अधिक नये रचनाकारों को यथासंभव प्रेरित करते हुए सहयोग/मार्गदर्शन देते हुए आगे बढ़ाने का भी हर संभव प्रयास करते हुए प्रेरक, गाडफादर, सारथी की भूमिका लगातार निभा रहे हैं। अनेक साहित्यिक, सामाजिक संगठनों, कवियों, साहित्यकारों ने सुधीर श्रीवास्तव को बधाइयाँ और शुभकामनाएं देते हुए प्रसन्नता व्यक्त की है। श्रीवास्तव ने संस्था, संस्था के पदाधिकारियों और सभी शुभचिंतकों का आभार, धन्यवाद प्रकट किया और कहा कि ममता मेहरोत्रा, श्याम कुंवर भारती और सामयिक परिवेश परिवार का मिल रहा स्नेह आशीर्वाद और अपनत्व किसी भी सम्मान से बड़ा है। कविता कानन साहित्य कला मंच के संस्थापक कुमार धन्नजय सुमन, महासचिव ममता मनीष सिन्हा सहित कविता कानन परिवार ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए सुधीर श्रीवास्तव को बधाइयां, शुभकामनाएं दी है।

सुनील कुमार आनंद ने आनलाइन सम्मान देते हुए कहा कि वरिष्ठ कवि/साहित्यकार सुधीर श्रीवास्तव को यह सम्मान प्रदान करते हुए कहा कि शान्ती फाउंडेशन परिवार को गौरव की अनुभूति का अहसास हो रहा है। उन्होंने सुधीर श्रीवास्तव को बधाइयां दी और कहा कि आपकी रचनात्मक उपस्थिति से संस्था और आयोजन को बल मिला।

ज्ञातव्य है कि सामयिक परिवेश के मीडिया प्रभारी और बेबाक, सर्वसुलभ, सर्वहितैषी व्यक्तित्व के धनी नवोदित रचनाकारों के लिए सारथी सुधीर श्रीवास्तव जी विभिन्न राष्ट्रीय/अंतरराष्ट्रीय पटलों/मंचों से 1500 से अधिक सम्मान पत्र प्राप्त कर चुके श्री श्रीवास्तव विभिन्न साहित्यिक पटलों में पदाधिकारी भी हैं। यथा सलाहकार सह संरक्षक-कविता कानन साहित्य  कला मंच, अधीक्षक -साहित्य प्रकाश रचना मंच, रा.उपाध्यक्ष- अ. भा. साहित्यिक आस्था मंच, अंतरराष्ट्रीय संरक्षक-स्व. हँसराज कक्कड़ स्मृति मंच, संरक्षक-नव साहित्य परिवार भारत, साहित्यकोष (राष्ट्रीय साहित्यकार मंच), नव साहित्य ई मा.पत्रिका, साहित्य एक नजर, राष्ट्रीय गौरव साहित्यिक एवं सांस्कृतिक संस्थान, मीडिया प्रभारी दल सामयिक परिवेश, महासचिव -प्रयागराज कल्चरल सोसायटी, मीडिया प्रभारी-कुछ बात कुछ जज्बात, संयोजक-अंतरराष्ट्रीय श्रेया क्लब फेसबुक लाइव सहित अनेक साहित्यिक पटलों/मंचों को विशेष रुप से व्यक्तिगत सहयोग भी देते रहते हैं।

बुलंदी विश्व रिकॉर्ड कवि सम्मेलन में प्रतिभाग कर ‘काव्यश्री’, अखंड काव्यार्चन गोल्डेन बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड, ऐतिहासिक अमृत महोत्सव काव्य गोष्ठी के लिए ‘गौरव सम्मान’, ‘कोच काव्य कुँभ 2021’, जय विजय सम्मान 2021, संगम शिरोमणि आदि से सम्मानित सुधीर श्रीवास्तव नेत्रदान का संकल्प कर चुके हैं और देहदान की इच्छा भी रखते हैं।

150 से अधिक नये रचनाकारों को यथासंभव प्रेरित करते हुए सहयोग/मार्गदर्शन देते हुए आगे बढ़ाने का भी हर संभव प्रयास करते हुए प्रेरक, गाडफादर, सारथी की भूमिका लगातार निभा रहे हैं। अनेक साहित्यिक, सामाजिक संगठनों, कवियों, साहित्यकारों ने सुधीर श्रीवास्तव को बधाइयाँ और शुभकामनाएं देते हुए प्रसन्नता व्यक्त की है। सुधीर श्रीवास्तव ने संस्था, संस्था के पदाधिकारियों और सभी शुभचिंतकों का आभार, धन्यवाद प्रकट किया।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × one =