अचानक ऐसा क्या हुआ कि आंदोलन कर रहे 35 हजार स्टेशन मास्टर खुश हो गए !! 

तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर : मांगों को लेकर विगत ७ अक्टूबर से आंदोलनरत देश के 35 हजार रेलवे स्टेशन मास्टरों को एक सूचना ने खुश कर दिया है । यह सूचना उनकी नाइट ड्यूटी एलाउंस  की  रिकवरी से जुड़ी है । जिसे लेकर स्टेशन मास्टर्स चरण बद्ध आंदोलन चला रहे थे। सूचना के मुताबिक नाइट ड्यूटी एलाउंस की  रिकवरी संबंधी आदेश को प्रशासन ने फिलहाल स्थगित कर दिया है। आल इंडिया स्टेशन मास्टर एसोसिएशन के सेंट्रल रेलवे के  जोनल अध्यक्ष हेमराज मीणा और दक्षिण पूर्व रेलवे शाखा के महासचिव दिलीप कुमार के मुताबिक इसके बावजूद संगठन पांचवे चरण के आंदोलन की तैयारी में  जुटा है।
आगामी 25 नवंबर को समूचे देश के मंडल मुख्यालयों में तीन सूत्री मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन किया जाएगा , क्योंकि हमारा मानना है कि जब स्टेशन मास्टर रात में  जाग कर ड्यूटी करते हैं तो हमें भत्ता भी मिलना चाहिए। रेलवे के निजीकरण और निगमीकरण के  भी हम खिलाफ हैं और ओपन लाइन स्टाफ के  लिए ५० लाख का  जीवन बीमा कवर की  सुविधा भी चाहते हैं। अपने तीन चरण के आंदोलन के तहत हमने शासकीय अधिकारियों से पत्राचार, दूसरे चरण में  काला बैज लगा कर सांकेतिक विरोध प्रदर्शन किया।
15 अक्टूबर को स्टेशन मास्टरों  ने मोमबत्ती जला कर विरोध जताया । इसके बावजूद कटौती किए जाने से नाराज होकर स्टेशन मास्टरों ने कुछ दिन पहले आन ड्यूटी और आफ ड्यूटी १२ घंटा व्यापी अनशन किया । उन्होंने कहा कि समूचे आंदोलन में हमने किसी भी रूप में सेवा प्रभावित नहीं होने दी । आगे भी हम इस नीति पर चलते रहेंगे ।
Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

19 − ten =