छात्र लक्ष्य तय कर आगे बढ़ें, सफलता निश्चित मिलेगी : मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

अंकित तिवारी : उत्तराखंड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान (यूसर्क), सूचना एवं विज्ञान प्रौद्योगिकी विभाग, उत्तराखंड द्वारा सहयोग संस्था व थारू इंटर कॉलेज के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किए जा रहे दो दिवसीय प्रथम बाल-युवा समागम 2021 कार्यक्रम का आज दिनांक 18 दिसंबर 2021 को थारु राजकीय इंटर कॉलेज, खटीमा में दीप प्रज्वलित कर उद्घाटन किया। कार्यक्रम के प्रारंभ में यूसर्क की निदेशक प्रोफेसर (डॉ.) अनीता रावत द्वारा कार्यक्रम में पधारे अतिथियों का स्वागत किया गया।

प्रो. अनीता रावत ने यूसर्क द्वारा आयोजित किया जा रहे इस प्रथम बाल युवा समागम कार्यक्रम की विस्तृत रूप रेखा प्रस्तुत करते हुए कहा कि यूसर्क द्वारा राज्य के विद्यार्थियों में विज्ञान शिक्षा अनुसंधान अभिरुचि को बढ़ाने की दिशा में एक प्लेट फॉर्म प्रदान करने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यूसर्क द्वारा इस वर्ष प्रथम चरण के अंतर्गत सीमांत जनपद पिथौरागढ़, चमोली एवम् उत्तरकाशी जनपदों में तीन STEM (विज्ञान प्रौद्योगिकी अभियांत्रिकी गणित एवं विज्ञान) प्रयोगशाला की स्थापना की जा रही है जिससे इन जनपदों के विद्यार्थियों को लाभ प्राप्त हो सकेगा।

प्रोफ़ेसर अनीता रावत ने बताया अभी हाल ही में यूसर्क द्वारा पर्यावरण संरक्षण एवं उसके अध्ययन हेतु सोहन सिंह जीना विश्वविद्यालय अल्मोड़ा में हरेला पीठ की स्थापना की गई है तथा प्रदेश के समस्त जनपदों में कुल 65 स्मार्ट क्लबों की स्थापना विभिन्न विद्यालयों में की गई है। उन्होंने कहा कि विभिन्न वैज्ञानिक गतिविधियों जैसे मेंटरशिप कार्यक्रम, तकनीकी आधारित शिक्षा, ज्ञान विज्ञान अभियान, स्मार्ट इको क्लब, जल शाला द्वारा जल विज्ञान प्रशिक्षण, जल स्रोतों का वैज्ञानिक अध्ययन एवम् संरक्षण,

विद्यार्थियों एवं महिलाओं के आजीविका विषयक प्रशिक्षण एवं कौशल विकास कार्यक्रम आदि महत्वपूर्ण कार्यक्रमों को राज्य सरकार के सहयोग से संपादित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मेरे सपनों का उत्तराखंड एवम् प्रौधौगिकी का जीवन पर प्रभाव विषय पर विद्यार्थियों के मध्य पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है जिसके कुल 10 (प्रथम पांच पांच) विजेताओं को स्मार्ट वॉच प्रदान की जाएगी।

माननीय मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कार्यक्रम में उपस्थित आसपास के विभिन्न इंटरमीडिएट कॉलेज के विद्यार्थियों, स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर के छात्र-छात्राओं, शिक्षकों आदि को संबोधित करते हुए कहा कि यूसर्क द्वारा प्रदेश के छात्र छात्राओं के लिए विज्ञान आधारित विभिन्न कार्यक्रमों जैसे प्रौद्योगिकी आधारित विज्ञान शिक्षा, मेंटरशिप कार्यक्रम, जल विज्ञान शिक्षा आदि विभिन्न वैज्ञानिक एवम् अनुसंधान कार्यक्रमों के माध्यम से प्रदेश के दूरस्थ विद्यालयों तक विज्ञान शिक्षा को पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है तथा इस कार्यक्रम के अंतर्गत विज्ञान अभिरुचि उत्प्रेरण कार्यशाला, पोस्टर प्रतियोगिता बाल युवा सम्मान, विज्ञान प्रदर्शनी आदि को आयोजित किया जा रहा है। निश्चित रूप से आप सभी लोग इन विभिन्न विज्ञान गतिविधियों के द्वारा लाभान्वित होंगे।

माननीय मुख्यमंत्री जी के कर कमलों द्वारा खटीमा ब्लॉक के उत्तराखंड बोर्ड के वर्ष 2020-21 के कक्षा 10 एवम् कक्षा 12 के प्रथम पांच-पांच मेधावी छात्र छात्राओं को रु 5000 (रू पांच हजार चेक द्वारा) एवम् प्रमाणपत्र प्रदान किए गए। इंटमीडिएट परीक्षा में तृतीय एवं चतुर्थ स्थान पर प्राप्त करने वाले दो दो विद्यार्थियों सहित कुल 12 मेधावी विद्यार्थियों को मुख्यमंत्री जी द्वारा सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम की अति विशिष्ट अतिथि गीता धामी ने कार्यक्रम में उपस्थित विद्यार्थियों को विज्ञान आधारित शिक्षा को प्रयोगात्मक रूप से समझते हुए आगे बढ़ने का आव्हान किया जिससे उनके द्वारा किए गए कार्यों का राष्ट्र को लाभ मिल सके। उन्होंने कहा आज के विद्यार्थी हमारे देश का भविष्य हैं जिनको निर्मित करने में हम सभी का विशेष रुप से शिक्षकों का महत्वपूर्ण योगदान रहता है।

कार्यक्रम में उपस्थित माननीय मुख्यमंत्री उत्तराखंड के चीफ कोऑर्डिनेटर प्रोफेसर दुर्गेश पंत ने अपने संबोधन में कहा कि प्रौद्योगिकी आधारित विज्ञान शिक्षा के माध्यम से प्रदेश के दूरस्थ अंचलों के विद्यार्थी लाभान्वित हो रहे हैं तथा यह प्रयास किया जा रहा है कि प्रदेश के सभी विद्यार्थियों को अधिक से अधिक लाभ पहुंचाया जा सके।

कार्यक्रम का संचालन कर रहे यूसर्क के वैज्ञानिक डॉक्टर ओम प्रकाश नौटियाल ने कार्यक्रम में उपस्थित विद्यार्थियों को मेंटरशिप कार्यक्रम के बारे में विस्तार पूर्वक बताया। उन्होंने बताया कि किस प्रकार यह कार्यक्रम प्रदेश के युवाओं के लिए लाभकारी है तथा कैसे विद्यार्थी इसमें पंजीकरण कराकर अपने अपने मेंटर से जुड़कर मार्गदर्शन प्राप्त कर सकते हैं, अपना कैरियर बना सकते हैं तथा अपनी विभिन्न वैज्ञानिक जिज्ञासाओं का समाधान प्राप्त कर सकते हैं।

कार्यक्रम में उपस्थित यूसर्क वैज्ञानिक डॉ. भवतोष शर्मा ने विभिन्न वैज्ञानिक उपकरणों द्वारा प्रायोगिक रूप से जल का परीक्षण करना बताया तथा यह भी बताया कि किस प्रकार हम कम खर्चे में अपने संस्थान अथवा घर के जल की गुणवत्ता जांच सकते हैं।कार्यक्रम में उपस्थित वैज्ञानिक डॉ. राजेंद्र सिंह राणा ने ज्ञान विज्ञान अभियान तथा स्मार्ट इको क्लब के बारे में विस्तार से प्रकाश डाला।

मुख्य शिक्षा अधिकारी एवं विशिष्ट अतिथि रमेश चंद्र आर्य ने अपने संबोधन में कार्यक्रम में उपस्थित समस्त छात्र छात्राओं को आज के कार्यक्रम के अंतर्गत हो रहे विभिन्न वैज्ञानिक क्रियाकलापों को ठीक से समझने तथा उन्हें विज्ञान आधारित भूमिका के साथ समझने एवं अनुसंधान एवं नवाचार की दिशा में आगे बढ़ने का आह्वान किया।

कार्यक्रम में उपस्थित ब्लॉक शिक्षा अधिकारी खटीमा, सोनी मेहरा ने अपने उद्बोधन में कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में शिक्षकों द्वारा विद्यार्थियों को तकनीकी का प्रयोग करते हुए अध्यापन कार्य किया जा रहा है जिससे विद्यार्थी लाभान्वित हो रहे हैं।

कार्यक्रम में उपस्थित सहयोग संस्था खटीमा की अंजू भट्ट जी ने अपने संबोधन में कहा विद्यार्थियों के लिए विज्ञान विषयक कार्यक्रम विज्ञान मेला विज्ञान प्रदर्शनी प्रायोगिक प्रशिक्षण आदि बहुत ही उपयोगी सिद्ध हो रहे हैं अतः विद्यार्थियों को इन कार्यक्रमों के माध्यम से अधिक से अधिक ज्ञान प्राप्त करने का प्रयास करना चाहिए। इस दो दिवसीय बाल युवा समागम कार्यक्रम के आयोजन में सहयोग संस्था द्वारा सहयोग प्रदान किया जा रहा है।

थारू राजकीय इंटर कॉलेज खटीमा के प्रधानाचार्य राजेंद्र कुमार कटिहार ने कहा की आज के समय में विज्ञान शिक्षा बहुत ही महत्वपूर्ण हो चुकी है विज्ञान के द्वारा विद्यार्थियों को निरंतर आगे बढ़ने का अवसर प्राप्त हो रहा है तथा वह नए-नए नवाचार करने में सक्षम हो रहे हैं।

कार्यक्रम में उपस्थित थारू राजकीय इंटर कॉलेज खटीमा के शिक्षक एवम् यूसर्क द्वारा स्थापित विज्ञान केंद्र के समन्वयक नरेंद्र सिंह रौतेला ने कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथि, अति विशिष्ट अतिथि, विशिष्ट अतिथि, शिक्षकों, विद्यार्थियों, मीडिया कर्मियों आदि का धन्यवाद ज्ञापन किया गया।

कार्यक्रम के तकनीकी सत्र के अंतर्गत इंस्पायर कार्यक्रम के जनपद नैनीताल समन्वयक डॉ. हिमांशु पांडे ने विज्ञान अभिप्रेरण व्याख्यान के द्वारा विद्यार्थियों को मार्गदर्शन प्रदान किया। इसी सत्र के अंतर्गत बाल साहित्य संस्थान अल्मोड़ा के सचिव श्री उदय सिंह केरला द्वारा वैज्ञानिक प्रायोगिक प्रदर्शन के माध्यम से बच्चों में विद्यार्थियों में वैज्ञानिक अभिरुचि को बढ़ाने तथा उनके वैज्ञानिक प्रश्नों का समाधान प्रदान करने के लिए अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया। भारत ज्ञान विज्ञान समिति देहरादून के सचिव श्री सोहन सिंह रावत ने विभिन्न वैज्ञानिक मॉडलों के द्वारा बच्चों में भौतिक विज्ञान जीव विज्ञान रसायन विज्ञान पर्यावरण विज्ञान तथा सामान्य विज्ञान आधारित अनूठे प्रयोगों को प्रस्तुत करते हुए उनमें वैज्ञानिक चेतना का जागरण किया।

कार्यक्रम में खटीमा क्षेत्र के विभिन्न विद्यालयों कॉलेजों शिक्षण संस्थानों के लगभग 1500 विद्यार्थियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। कार्यक्रम में विभिन्न शिक्षण संस्थानों से आए विद्यार्थियों एवं शिक्षकों द्वारा अपने अपने विद्यालय द्वारा तैयार किए गए विभिन्न वैज्ञानिक मॉडल को प्रदर्शनी के माध्यम से प्रदर्शित किया जिसको माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा काफी सराहनीय बताया गया।

कार्यक्रम में डॉ. ओम प्रकाश नौटियाल, डॉ. भवतोष शर्मा, डॉ. राजेंद्र सिंह राणा, ओम जोशी, रमेश रावत, नरेंद्र सिंह रौतेला, प्रमोद कुमार सक्सेना, अंजू भट्ट, निर्मल कुमार न्योलिया, हिमांशु पांगरिया, अमन अग्रवाल, बृजेश कुमार, जितेंद्र अरोड़ा, मंजू रावत, श्वेता पांडे और टीचर, मुकेश पांडे, गंगा गुलाम सविता, सहित थारू इंटर कॉलेज के शिक्षक गण उपस्थित रहे।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen + thirteen =