1 महीने में 15 से 18 साल के 48 लाख बच्चों को वैक्सीन देगी राज्य सरकार

कोलकाता : पश्चिम बंगाल सरकार ने 3 जनवरी 2022 से 15 से 18 साल की आयु के बीच के किशोर/किशोरियों के लिये टीकाकरण अभियान आरंभ करने की रूपरेखा तैयार की है। इसके लिए 1 जनवरी 2022 से पंजीकरण शुरू हो रहा है। कोरोना वायरस की तीसरी लहर की आशंकाओं और वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के राज्य में बढ़ते मामलों के बीच पश्चिम बंगाल सरकार ने 3 जनवरी 2022 से 15 से 18 साल की आयु के बीच के किशोरों के लिये टीकाकरण अभियान आरंभ करने की रूपरेखा तैयार की है। बंगाल सरकार 3 जनवरी से एक महीने के भीतर 48 लाख किशोर को पहली खुराक देने का कड़ा लक्ष्य रखा है। किशोरों के टीकाकरण को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों, राज्य के मुख्य सचिव एच.के. द्विवेदी और राज्य के स्कूली शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच मंगलवार को बैठक हुई।

अधिकारियों ने कहा कि बैठक में बच्चों के टीकाकरण अभियान की व्यापक रूपरेखा पर चर्चा हुई। अगले कुछ दिनों में और विस्तृत दिशानिर्देश तैयार किए जाएंगे। राज्य के स्वास्थ्य सचिव नारायण स्वरूप निगम ने कहा, “हमने इस आयु वर्ग के लिए पहली खुराक को एक महीने के भीतर कवर करने का लक्ष्य रखा है। हम 15-18 आयु वर्ग के बच्चों को उनके संबंधित स्कूलों (स्कूलों में पढ़ने वालों के लिए) को एप्रोच करेंगे। हमें विश्वास है कि इससे अधिक संगठित अभियान और बेहतर कवरेज की सुविधा मिलेगी।”

स्वास्थ्य और शिक्षा अधिकारियों की बुधवार फिर बैठक होगी, ताकि इस आयु वर्ग के लिए टीके पहुंचाने के लिए नीतिगत निर्णय लिया जा सके। वरिष्ठ अधिकारी माध्यमिक विद्यालयों में टीकाकरण कैंप लगाना चाहते हैं, जिनमें से सभी में टीकाकरण केंद्रों के समान नियमों और प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा। राज्य का स्वास्थ्य विभाग वहां टीकाकरण दल भी भेजेगा, जिसमें डॉक्टर शामिल होंगे। स्कूलों को पहले छात्रों से पंजीकरण करने के लिए कहा जाएगा। इस अभियान के लिए पंजीकरण इस शनिवार, 1 जनवरी से शुरू होगा।

बंगाल को 15-18 आयु वर्ग में 48 लाख प्राप्तकर्ताओं के लिए दोनों खुराक को कवर करने के लिए लगभग 1 करोड़ कोवैक्सिन खुराक की आवश्यकता होगी। स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि कोल्ड चेन और वैक्सीन की आपूर्ति कोई मुद्दा नहीं होगा। इस आयु वर्ग के लिए एकमात्र वैक्सीन कोवैक्सिन को 2°C और 8°C के बीच के तापमान पर रखा जा सकता है। राज्य के पास मंगलवार को 48 लाख कोवैक्सिन डोज का स्टॉक था। राज्य परिवार कल्याण अधिकारी आसिम दास मालाकार ने कहा कि पहले दिन यानी अगले सोमवार से हर स्कूल में कम से कम 100 वैक्सीन देने का लक्ष्य रखा गया है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मांग के अनुसार नजदीकी कोल्ड चेन प्वाइंट से और वैक्सीन भेजी जा सकती है। एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा, “हम यह देखना चाहेंगे कि को-विन ऐप पहले दिन कैसे काम करता है। अगर कोई गड़बड़ी नहीं है तो हम हर दिन अधिक खुराक दे सकते हैं।”

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven + 1 =