हावड़ा। पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले में शनिवार सुबह से स्थिति शांतिपूर्ण रही जहां शुक्रवार को हिंसक प्रदर्शन हुए थे। इस बीच, हिंसा प्रभावित इलाकों समेत संपूर्ण जिले में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू रही और इंटरनेट सेवाएं निलंबित रहीं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।दरअसल, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल की ओर से पैगंबर मोहम्मद के बारे में की गयी कथित विवादास्पद टिप्पणी के विरोध में शुक्रवार को नमाज के बाद बंगाल के हावड़ा समेत देश के कई इलाकों में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुए थे।

अधिकारियों के मुताबिक हावड़ा के उलुबेरिया, पंचला और जगतबल्लभपुर क्षेत्रों में तथा इसके अलावा इन क्षेत्रों के रेलवे स्टेशनों और राष्ट्रीय राजमार्ग के आस-पास पांच या उससे अधिक लोगों के एकत्र होने, सभा करने अथवा कोई खतरनाक हथियार रखने या ऐसा कोई भी कार्य करना प्रतिबंधित है, जिससे सार्वजनिक शांति भंग हो। ये प्रतिबंध 10-15 जून तक लागू रहेंगे।संपूर्ण जिले में इंटरनेट सेवाएं भी निलंबित रहीं और ये सेवाएं 13 जून तक निलंबित रहेंगी।

पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘हावड़ा जिले में स्थिति शांतिपूर्ण है। शुक्रवार रात से विरोध प्रदर्शन या हिंसा की कोई घटना नहीं हुई है। हमने संवेदनशील इलाकों में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया है।’’ हिंसा, विरोध प्रदर्शन या सड़कों को अवरुद्ध करने या सामान्य जनजीवन में बाधा डालने की किसी भी घटना से बहुत ही सख्ती से निपटा जाएगा।

उन्होंने कहा, ‘‘हम किसी को भी जिले में अशांति पैदा करने की अनुमति नहीं देंगे। हम स्थिति पर कड़ी नजर रखे हुए हैं और जिले में शांति सुनिश्चित करेंगे।’’ पुलिस अधिकारी के मुताबिक राष्ट्रीय राजमार्ग-16 पर वाहनों की आवाजाही तथा ट्रेन सेवाएं सामान्य हैं, जबकि बाजार और अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान खुले हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हम सभी एहतियाती कदम उठा रहे हैं और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।’’

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × one =