ऐसा नहीं है कि मैं तेज गेंदबाजों का सामना नहीं करना चाहता : धवन

फोटो, साभार : गूगल

नयी दिल्ली : सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने कहा कि वह तेज गेंदबाजों का सामना अच्छी तरह से कर सकते हैं लेकिन इसके साथ ही स्वीकार किया कि जब भी तेज गेंदबाज गेंदबाजी का आगाज करता है तब वह पारी की पहली गेंद का सामना नहीं करना चाहते हैं। धवन अपने सलामी जोड़ीदार रोहित शर्मा और सनराइजर्स हैदराबाद के अपने पूर्व साथी डेविड वार्नर की हाल की टिप्पणियों पर प्रतिक्रिया कर रहे थे।

धवन ने पूर्व भारतीय आलराउंडर इरफान पठान के साथ इंस्टाग्राम पर बातचीत में कहा, ‘‘नहीं, नहीं, मैं इससे असहमत हूं। ऐसा नहीं है कि मैं तेज गेंदबाजों का सामना नहीं करना चाहता हूं। हर किसी की अपनी राय होती है। मैं सलामी बल्लेबाज हूं। मैं पिछले आठ साल से भारत के लिये यह भूमिका निभा रहा हूं इसलिए मुझे निश्चित तौर पर तेज गेंदबाजों का सामना करना होता है।’

अगर मैं पहले ओवर में उनका सामना नहीं करता हूं तो मुझे दूसरे ओवर में तो उनका सामना करना ही होगा। धवन ने अपने पदार्पण के बाद कई अच्छी पारियां खेली हैं लेकिन वह उनके सलामी जोड़ीदार रोहित शर्मा हैं जो कप्तान विराट कोहली के साथ टीम की बल्लेबाजी के मुख्य कर्णधार के रूप में उभरे हैं। पहले स्ट्राइक नहीं लेने को लेकर उनकी राय स्पष्ट है लेकिन उन्होंने इसे मानसिकता से जुड़ा मसला बताया।

हां, मैं मैच की पहली गेंद पर स्ट्राइक लेना पसंद नहीं करता और इसको लेकर मैं पूरी तरह से ईमानदार हूं लेकिन जब पृथ्वी सॉव जैसा कोई युवा टीम में आता है और वह पहली गेंद खेलने को लेकर असहज रहता है तो निश्चित तौर पर मैं स्ट्राइक लूंगा। लेकिन रोहित के साथ इसकी शुरुआत चैंपियन्स ट्राफी से हुई जहां मैंने उससे स्ट्राइक लेने को कहा और यह आगे भी जारी रहा क्योंकि मैं चीजों में बहुत बदलाव पसंद नहीं करता।

दिल्ली के इस खिलाड़ी ने कहा कि तेज गेंदबाजों के लिये अनुकूल परिस्थितियों में तेज गेंदबाज का सामना करना किसी भी सलामी बल्लेबाज के लिये चुनौती होती है।‘बेशक अगर हम इंग्लैंड में तेज गेंदबाजों के लिये अनुकूल परिस्थितियों में खेल रहे हों तो यह हर किसी के लिये चुनौतीपूर्ण होता है। ऐसा नहीं है कि मैं तेज गेंदबाजों का सामना नहीं करना चाहता । ’’

रोहित और धवन दोनों ही 2013 की चैंपियन्स ट्राफी से भारत के लिये पारी का आगाज कर रहे हैं। इसके बाद केएल राहुल ने भी सलामी बल्लेबाज के रूप में अपनी उपस्थिति दर्ज करायी। वार्नर और रोहित ने हाल में धवन के साथ पारी की शुरुआत करने को लेकर बात की थी। वार्नर ने कहा था, ‘‘मुझे याद है कि उसने (धवन) केवल एक बार तब पहली गेंद खेली थी जब हरभजन सिंह गेंदबाजी कर रहा था। ’’

दूसरी तरफ रोहित ने धवन के बारे में कहा, ‘‘वह हमेशा कहता है कि अगर बायें हाथ का तेज गेंदबाज गेंद कर रहा हो तो ‘तुम स्ट्राइक लेना क्योंकि मुझे अंदर आती गेंद पसंद नहीं हैं। रोहित ने कहा, ‘‘ वह बेवकूफ है, मैं क्या कह सकता हूं। उसे पहली गेंद का सामना करना पसंद नहीं है। वह स्पिनरों के सामने पहली गेंद खेलना पसंद करता है लेकिन तेज गेंदबाजों के सामने नहीं। ’’

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × 3 =