सीम और स्विंग पर रहता है शमी का ध्यान

मो. शमी, फोटो साभार : गूगल

नयी दिल्ली : विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम की ताकत उसका गेंदबाजी आक्रमण है और इस आक्रमण का अहम हिस्सा हैं मोहम्मद शमी। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में करियर की शुरुआत करने वाले शमी अब कोहली की कप्तानी में गेंदबाजों के समूह के नेतृत्वकर्ता बनकर उभरे हैं।

शमी ने रिवर्स स्विंग पर हासिल की गई महारत पर बात की तो वहीं कप्तान कोहली के साथ अपनी नजदीकियों पर भी चर्चा की। इसके अलावा शमी ने यह भी बताया कि कोरोनावायरस के कारण इस समय घर में रहना कितना जरूरी है।

शमी से जब पूछा गया कि गेंद हाथ में रहते हुए उनका ध्यान किस चीज पर रहता है तो उन्होंने कहा कि मेरी कोशिश रहती है कि मेरी गति 140 किलोमीटर प्रति घंटे के नीचे नहीं जाए, लेकिन मेरा ध्यान सीम और स्विंग पर होता है। मैं कोशिश करता हूं कि मैं दो चीजें सही तरीके से कर सकूं। मैं अपनी फिजिकल स्ट्रेंथ के चलते ऐसा सुनिश्चित करने की कोशिश करता हूं और आप इस पर स्ट्रेंथ ट्रेनिंग के तहत काम कर सकते हैं। लेकिन मैंने हमेशा सीम और स्विंग को प्राथमिकता दी है और कभी उन्हें बैकसीट पर जाने नहीं दिया।”

रिवर्स स्विंग के मामले में जब पूछा गया कि क्या यह उनके पास शुरू से थी या इस पर उन्होंने काम किया? इस पर गेंदबाज ने कहा कि यह उन्हें समय के साथ आई है। उन्होंने कहा, “जैसे-जैसे आप खेलते जाते हैं, आप काफी सारी चीजें सीखते हैं। यह एक प्रक्रिया के बाद दूसरी प्रक्रिया पर जाने की बात है। इसलिए जब आप एक चीज में मास्टर हो जाते हैं तो फिर इसके बाद दूसरी चीज पर ध्यान देते हैं।

शुरुआत में मुझे रिवर्स स्विंग को लेकर कोई आइडिया नहीं था, लेकिन धीरे-धीरे मैं इसे समझ गया कि यह कैसे होती है और कैसे काम करती है। इसके बाद मैंने इस पर काम करना शुरू किया क्योंकि आप इसे लेकर पैदा नहीं होते हो। ऐसा नहीं है कि मैं भगवान से इसे लेकर आया हूं। मैंने इस पर कड़ी मेहनत की है।” कप्तान कोहली के साथ अपने रिश्ते पर शमी ने कहा कि यह मैदान पर सभी को दिखता है।

उन्होंने कहा, “क्या मुझे इस पर कुछ भी कहने की जरूरत है? मुझे लगता है कि परिणाम खुद बताते हैं कि विराट किस तरह से हमारा साथ देते हैं। उन्होंने हमें हमेशा स्वतंत्रता दी है कि हमें जो लगता है वो हम करें। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर यह भी जरूर है कि आपका कप्तान आपका मजबूत और कमजोर पक्ष जानता हो और आपका समर्थन करता हो। इससे आपको अपना खेल बेहतर करने में मदद मिलती है।”

शमी ने कहा, “विराट को हमारी काबिलियत पर भरोसा है और उन्हें परिणाम भी मिलते हैं क्योंकि एक गेंदबाज के तौर पर आपको ऐसा कप्तान चाहिए होता है जो आप पर भरोसा करे।”

शमी से जब पूछा गया कि वो कोहली को कैसे आउट करेंगे तो शमी ने कहा, “कई तरह की चीजें होती हैं जो दूसरे खिलाड़ी के साथ खेलते हुए और उसके साथ समय बिताते हुए आप सीखते हैं। आपको सिर्फ उसकी ताकत का पता नहीं चलता, कमजोरी का भी चलता है। इसमें कोई शक नहीं है कि वह बेहतरीन बल्लेबाज हैं लेकिन सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों की भी कमजोरी होती है जिस पर आप काम कर सकते हैं। आपको एक चीज पकड़नी होती है और उस पर काम करना होता है।”

उन्होंने कहा, “उदाहरण के तौर पर, ऐसे कौनसे एरिया हैं जहां हालिया दौर में बल्लेबाज को परेशानी हुई है, आप उन पर काम करते हो। मैंने उन्हें आईपीएल में कई बार आउट किया है।” इस समय कोरोनावायरस के कारण पूरा देश रुका हुआ सा है और 3 मई तक लॉकडाउन जारी है। शमी ने कह कि यह समय पर घर रहने और सरकार के आदेश का पालन करने का है।

शमी ने कहा, “यह काफी मुश्किल समय है। किसी ने भी नहीं सोचा था कि इस तरह का कुछ होगा। यह समय है जब हम सभी को एक साथ काम करना है। हम लोग घर में रहने के आदी नहीं हैं लेकिन यह इस समय वक्त की जरूरत है और हमें सरकार के आदेश का पालन करना चाहिए। मैं सभी से अपील करता हूं कि लोग मास्क पहनें और सैनेटाइजर का इस्तेमाल करें।”

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − 6 =