शालबनी : भादुतला हाई स्कूल में अंधविश्वास विरोधी जागरूकता शिविर

तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर : पश्चिम मेदिनीपुर जिला अंतर्गत शालबनी के भादुतला विवेकानन्द हाई स्कूल (हायर सेकेण्डरी) प्रबंधन द्वारा शनिवार को विद्यालय के रवीन्द्र मंच पर विद्यालय छात्रावास के छात्र-छात्राओं के साथ अन्धविश्वास विरोधी जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।

यह कार्यक्रम पश्चिम बंगाल विज्ञान मंच की पश्चिम मेदिनीपुर जिला शाखा के सहयोग से आयोजित किया गया। कुछ दिन पहले छात्रावास के कुछ छात्रों को 12:00 बजे से 3:30 बजे तक अजीब भ्रम हो जाया करता था।

सातवीं और आठवीं कक्षा के कुछ छात्र दौरे के चलते अचानक बेहोश हो गए। इससे पहले उस दिन रात 8:30 बजे एक छात्र को बीमारी के कारण मेदिनीपुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

Shalbani: Anti-superstition awareness camp in Bhadutala High School

लड़का अब ठीक है लेकिन उस रात छात्र को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराने के बाद, छात्रावास अधीक्षक और साथी शिक्षक इस अकल्पनीय घटना को देखने के लिए वापस आये। बहुत देर तक अन्य छात्र अनिश्चितता और भय से कांपते रहे।

सरकारी प्रतिनिधियों, जन प्रतिनिधियों, पूर्व छात्रों व शुभचिंतकों के सहयोग से साढ़े तीन बजे तक छात्र शांत हुए। अगले दिन, अभिभावकों की बैठक में बुलाए गए सामूहिक निर्णय के आधार पर सभी ‘सामूहिक’ छात्रों को घर पर मनोरोग उपचार के लिए छात्रावास से रिहा कर दिया गया।

पिछले कुछ दिनों से छात्रों और अभिभावकों के साथ जागरूकता बैठकें की गईं लेकिन इससे भी छात्रों का डर दूर नहीं हुआ तो आज पश्चिम बंगाल विज्ञान मंच के सहयोग से डॉ बाबूलाल शासमल, नंददुलाल भट्टाचार्य, विधान पाडिया आदि की उपस्थिति में जागरुकता नाटक व भाषण प्रस्तुत किये गये।

Shalbani: Anti-superstition awareness camp in Bhadutala High School

छात्रों और अभिभावकों की समग्र भागीदारी उल्लेखनीय थी। हर किसी ने पूर्वाग्रहों को दूर करने और तर्कसंगत स्वतंत्र सोच के साथ भविष्य में आगे बढ़ने का संकल्प लिया । विद्यालय की ओर से प्रधानाध्यापक डॉ अमितेश चौधरी ने आयोजक संस्था को धन्यवाद दिया।

साथ ही आज के कार्यक्रम में सह प्रधान शिक्षक डाॅ सुरजीत घोषाल सहित शिक्षक रवीन्द्रनाथ मुर्मू, स्वपन मंडल, शितिकांत पात्रा, सुब्रत कुमार डे, मधुरिमा धर, चुनका सारेन, शिक्षाकर्मी चंपा घोष व डोला दास उपस्थित थी।

कार्यक्रम सुबह 9 बजे से दोपहर 1:30 बजे तक चला। बता दें कि छह साल पहले भी यहाँ ऐसी ही घटना हुई थी। छात्रों को छात्रावास में रहने की अनुमति दी गई, जब उनकी शंका दूर हो गई।

Shalbani: Anti-superstition awareness camp in Bhadutala High School

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे कोलकाता हिन्दी न्यूज चैनल पेज को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। एक्स (ट्विटर) पर @hindi_kolkata नाम से सर्च करफॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *