बंगाल में फिर गुलज़ार हुए स्कूल-कॉलेज, शुरू हुई पढ़ाई

प्रतिकात्मक फोटो, साभार गूगल

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में कोरोना महामारी के कारण बंद स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालयों में आज से फिर से रौनक लौटी है। इन संस्थानों को सरकार ने आज से पुन: खोल दिया है। बीते कुछ दिनों से संक्रमण के मामलों लगातार गिरावट देखने के बाद ममता सरकार ने यह फैसला लिया है। सरकार ने निजी और सरकारी दोनों तरह के स्कूलों को आज से आठवीं से लेकर बारहवीं कक्षा के साथ फिर से खोलने की अनुमति दी है।

राज्य सरकार प्री-प्राइमरी और प्राथमिक कक्षाओं से सातवीं कक्षा तक के छात्रों के लिए पड़ोस के स्कूलों का आयोजन करेगी। अधिकारी ने यह जानकारी दी है।स्कूल खुलने के बाद छात्रों में एक बार फिर खुशी का माहौल है। सरस्वती पूजा (Sarswati Puja) के पहले गुरुवार से राज्य में स्कूल-कॉलेज-विश्वविद्यालय व अन्य शिक्षण संस्थान खुल गये हैं। छात्र फिर से अपनी कक्षाओं में लौट गए हैं। इसकी तैयारी दो दिन पहले ही शुरू हो चुकी था।

एक तरफ जहां छात्रों को कोरोना के नियमों का पालन कराने के लिए तमाम प्रयास किए जा रहे हैं। स्कूलों में सोशल डिस्टैंसिंग (Social Distancing) का पालन किया जा रहा है और बच्चों के स्कूल में प्रवेश करने के पहले उनका तापमान चेक किया जा रहा है। स्कूलों में भी बच्चों को अलग-अलग बैठने की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को घोषणा की थी कि स्कूल (कक्षा आठवीं – बारहवीं), कॉलेज और विश्वविद्यालय 3 फरवरी से फिर से खुलेंगे।

बता दें कि राज्य में स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय 16 मार्च, 2020 को बंद थे, फिर 12 फरवरी 2021 को नौवीं से बारहवीं कक्षा की कक्षाएं शुरू हुईं, लेकिन 20 अप्रैल 2021 से फिर से स्कूल बंद कर दिया गया। शिक्षा मंत्री पर्थ चटर्जी ने पहले कोविड की दूसरी लहर (पश्चिम बंगाल कोविड प्रतिबंध) के कारण गर्मी की छुट्टी की घोषणा की थी। फिर 17 नवंबर, 2021 को नौवीं से बारहवीं कक्षा के लिए स्कूल फिर से खुल गया, लेकिन 3 जनवरी 2022 को फिर से तीसरी लहर के बल पर स्कूल को फिर से बंद कर दिया गया था।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × five =