सारदा घाटाले के सिलसिले में पूर्व पुलिस अधिकारी के घर पर सीबीआई की छापेमारी

प्रतीकात्मक फोटो, साभार : गूगल

कोलकाता : करोड़ों रुपये के सारदा पोंजी घोटाले की जांच कर रही सीबीआई के अधिकारियों ने इस मामले में पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा गठित एसआईटी के सदस्य रहे पूर्व पुलिस अधिकारी दिलीप हाजरा के घर पर छापेमारी की। केंद्रीय एजेंसी के सूत्रों ने बताया कि सीबीआई ने 28 जुलाई को पूर्व बर्धमान जिले में हाजरा के निवास पर छापेमारी की।

सूत्रों ने बताया कि सीबीआई ने छापेमारी के दौरान कुछ दस्तावेज जब्त किए हैं। हाजरा अब सेवानिवृत्त हो चुके हैं और वह बिधाननगर पुलिस आयुक्तालय में तैनात थे और 2013 में इस घोटाले का पता चलने के बाद गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) का हिस्सा थे। सीबीआई द्वारा इस मामले में उनसे एसआईटी की प्रारंभिक जांच के सिलसिले में पूर्व में पूछताछ की गई थी।

पश्चिम बंगाल सरकार ने इस घोटाले की जांच के लिए 2013 में एसआईटी का गठन किया था जिसमें राज्य के पुलिस बलों से अधिकारियों को शामिल किया गया था। उच्चतम न्यायालय ने 2014 में इस मामले को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को स्थानांतरित कर दिया था।

इस घोटाले से हजारों निवेशक प्रभावित हुए थे और इसके चलते राज्य की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कई नेताओं और मंत्रियों की गिरफ्तारी हुई थी। वे सभी अब जमानत पर हैं। सारदा समूह के संस्थापक सुदीप्त सेन और करीबी सहयोगी देबजानी मुखर्जी जेल में हैं। एसआईटी के कई सदस्यों से सीबीआई ने पूछताछ की है, जिनमें कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार भी शामिल हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 − two =