वाशिंगटन। अमेरिका ने रूस पर यूक्रेन के कुछ हिस्सों पर कब्जा जमाने की योजना बनाने का आरोप लगाया है। अमेरिका का आरोप है कि रूस क्रीमिया के अपने अधिग्रहण के समान रणनीति बनाकर खुद में यूक्रेन के कुछ और क्षेत्रों को शामिल करना चाहता है। बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी। अमेरिकी प्रतिरक्षा विभाग के मुख्यालय पेंटागन के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने अमेरिकी खुफिया विभाग के हवाले से कहा है कि रूस पहले से ही यूक्रेन के अधिक क्षेत्रों को खुद में शामिल करने की योजना बनाना शुरू कर दिया है।

उन्होंने कहा कि रूस इस मामले में यूक्रेन के नाजायज रूसी समर्थकों से जनमत संग्रह करने का दिखावा करेगा कि ताकि यह साबित कर सके कि यूक्रेन के लोग रूस में शामिल होने को लेकर सहमत हैं। किर्बी ने कहा, ‘लोगों से जनमत संग्रह कर उनके परिणामों का उपयोग रूस द्वारा यूक्रेनी क्षेत्र पर कब्जे का दावा करने के प्रयास के रूप में किया जाएगा।’ रूस ने इसी तरह से साल 2014 में क्रीमिया को औपचारिक रूप से अपने में मिला लिया था। किर्बी ने कहा कि फिलहाल जिन क्षेत्रों में यूक्रेन की निगाहें हैं उनमें खेरसॉन, ज़ापोरिज्जिया, डोनेट्स्क और लुहान्स्क शामिल हैं।

पुतिन ने यूक्रेन के साथ मध्यस्थता की पेशकश के लिए यूएई सहित अन्य मित्र देशों को दिया धन्यवाद : रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बुावार को कहा कि यूक्रेन में जारी संघर्ष की स्थिति को सुलझाने में मध्यस्थता की पेशकश के लिए रूस तुर्की, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) का आभारी है। पुतिन ने त्रिपक्षीय शिखर सम्मेलन से इतर कहा, ‘तुर्की के प्रयासों के साथ-साथ रूस और यूक्रेन के बीच मध्यस्थता की पेशकश करने वाले अन्य देश जैसे कि सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात के प्रति हम आभारी हैं। जो मुसीबत को हल करने के लिए हमें अपने अवसर दिलाए हैं। किसी भी चीज में किसी तरह का योगदान करना एक नेक बात है।’

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 − nine =