ड्रेसिंग रूम में बैठकर मैच देखने में कोई मजा नहीं आता : रोहित

रोहित शर्मा, फोटो साभार : गूगल

नयी दिल्ली : भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा का मानना है कि डेविड वार्नर और स्टीवन स्मिथ की उपस्थिति में इस साल उनकी टीम का भारतीय दौरा पूरी तरह से भिन्न होगा। भारत ने 2018-19 की सीरीज में 2-1 से जीत दर्ज की थी, जो उसकी ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर 71 वर्षों में उसकी पहली जीत थी।

ऑस्ट्रेलियाई टीम में हालांकि तब वार्नर और स्मिथ नहीं थे। इन दोनों पर गेंद से छेड़छाड़ के कारण उस समय एक साल का प्रतिबंध लगा हुआ था। रोहित ने कहा कि मैं आस्ट्रेलिया जाकर वहां टेस्ट मैच खेलने के लिये इंतजार नहीं कर सकता हूं। रोहित के अनुसार पारी का आगाज करना चुनौती है, जो उनको पसंद है।

इसका सबूत दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सलामी बल्लेबाज के रूप में उनकी शानदार शुरुआत थी। वह हालांकि 2018 के आस्ट्रेलिया दौरे से ही इस जिम्मेदारी के लिये तैयार थे जब टीम प्रबंधन ने उन्हें स्पष्ट संकेत दे दिये थे। उन्होंने कहा कि मुझसे कहा गया था कि मुझे टेस्ट मैचों में भी पारी की शुरुआत करनी पड़ सकती है। यह दो साल पुरानी बात है। मैं तभी से खुद को तैयार कर रहा था। ड्रेसिंग रूम में बैठकर मैच देखने में कोई मजा नहीं आता है।

आप मौका चाहते हो। हर कोई क्रीज पर उतरना चाहता है। मैं भी मैच देखना नहीं खेलना चाहता था। जब मौका मिला तो मैं तैयार था। कुछ तकनीकी पहलू थे जिन पर मुझे ध्यान देना था। आस्ट्रेलियाई सीरीज काफी रोमांचक होगी क्योंकि भारतीय टीम अभी अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेल रही है। एक टीम के तौर पर हम अभी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रहे हैं। हर कोई विरोधी टीम के हाथों से मैच छीनना चाहता है।

अगर यह सीरीज होती है तो यह शानदार सीरीज होगी। भारत को टी-20 विश्व कप में खेलने के लिये अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया जाना है, जिसके बाद उसे जनवरी तक टेस्ट सीरीज खेलनी है। लेकिन कोरोना वायरस के विश्व भर में फैले प्रकोप के कारण इसको लेकर आशंकाएं भी जतायी जा रही हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 − four =