प्रसिद्ध कथक नर्तक पंडित बिरजू महाराज का निधन

फोटो साभार : गुगल

नई दिल्ली : प्रसिद्ध कथक नर्तक पंडित बिरजू महाराज का निधन हो गया है। उनकी पोती रागिनी महाराज ने उनके निधन की जानकारी दी। महान कथक नृतक बिरजू महाराज के निधन पर उनकी पोती रागिनी महाराज ने बताया कि पिछले एक महीने से उनका इलाज चल रहा था। बीती रात उन्होंने मेरे हाथों से खाना खाया, मैंने कॉफी भी पिलाई। इसी बीच उन्हें सांस लेने में तक़लीफ हुई हम उन्हें अस्पताल ले गए लेकिन उन्हें बचाया ना जा सका। वे 83 साल के थे। हार्ट अटैक के बाद रविवार देर रात उन्होंने दिल्ली में आखिरी सांस ली। बताया जा रहा है कि रविवार की रात दिल्ली स्थित अपने घर में पंडित बिरजू महाराज अपने पोते के साथ खेल रहे थे इसी दौरान उनकी तबीयत अचानक बिगड़ गई उन्हें साकेत अस्पताल ले जाया गया। जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

पंडित बिरजू महाराज का असली नाम बृजमोहन मिश्रा था। उनका जन्म 4 फरवरी 1938 को लखनऊ में हुआ था। वे लखनऊ घराने से ताल्लुक रखते थे। वह गुरु, नर्तक, कोरियोग्राफर, गायक और कंपोजर थे। कविता भी लिखते थे और चित्रकारी भी करते थे। उनके शिष्य जाने-माने कलाकार है और दुनिया भर में फैले हुए हैं। पद्म विभूषण समेत कई पुरस्कारों से उन्हें सम्मानित किया गया था। 1983 में पद्म विभूषण से सम्मानित बिरजू महाराज ने बॉलीवुड की कई फिल्मों में भी डांस कोरियोग्राफ किया। जिसमें उमराव जान, डेढ़ इश्किया, बाजीराव मस्तानी जैसी फिल्में शामिल है। पद्म विभूषण के अलावा उन्हें संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार और कालिदास सम्मान भी मिल चुका है। 2012 में विश्वरूपम फिल्म में कोरियोग्राफी के लिए उन्हें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − ten =