प्रो सोमा बंद्योपाध्याय ने संभाला डायमंड हार्बर महिला विश्वविद्यालय के कुलपति पद का अतिरिक्त प्रभार

कोलकाता। हर काम को पूरी जिम्मेदारी, सजगता और सार्थकता से निभाने वाली प्रो सोमा बंद्योपाध्याय की कर्तव्यनिष्ठा को देखते हुए गत शनिवार 15 जनवरी 2022 को उन्हें डायमंड हार्बर महिला विश्वविद्यालय (Diamond Harbour Women’s University) के कुलपति पद (अतिरिक्त प्रभार) का दायित्व प्रदान किया गया। उनकी देखरेख में विश्वविद्यालय को एक नई दिशा मिलेगी और तेजी से इसका विकास होगा। अतिरिक्त कार्यभार ग्रहण करने के बाद प्रो सोमा बंद्योपाध्याय ने कहा कि मैं सभी को धन्यवाद देना चाहती हूं कि उन्होंने इसके लिए मुझे चुना। मैं निरंतर अपने प्रयास से विश्वविद्यालय को नए मुकाम पर पहुंचाने की कोशिश करूंगी। बता दें कि प्रो. बंद्योपाध्याय वर्तमान में पश्चिम बंगाल के शिक्षक प्रशिक्षण, शिक्षण योजना एवं प्रबंधन विश्वविद्यालय (WBUTTEPA) जिससे पश्चिम बंगाल के 650 से अधिक महाविद्यालय संबद्ध हैं, के कुलपति पद पर आसीन हैं।

उनकी प्रशासनिक क्षमता से प्रभावित होकर 2019 में उन्हें संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति पद (अतिरिक्त प्रभार) की भी जिम्मेदारी सौंपी गई। इसके अतिरिक्त मैम Indian Institute of Social Welfare and Business Management निदेशक, कलकत्ता विश्वविद्यालय की कुलसचिव एवं कलकत्ता विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग के अध्यक्ष पद पर भी विद्यमान रह चुकी हैं। वर्ष 2021 में ही उन्हें शिक्षण के लिए “गुरु द्रोण सम्मान” एवं वर्षांत में अर्थात 26 दिसंबर 2021 को उन्हें साहित्य एवं शिक्षण के लिए प्रथम कल्याणमल लोढ़ा पुरस्कार – 2021 से सम्मानित किया गया है।

अब वर्ष 2022 के आरंभ में ही उन्हें पुनः एक नया उपहार तथा एक नई जिम्मेदारी प्रदान की गई है। आशा है कि आने वाला प्रत्येक वर्ष मैम के लिए सुखद एवं प्रगतिशील रहेगा। पूर्ण विश्वास है कि उनका आशीर्वाद एवं स्नेहिल व्यवहार हम सभी विद्यार्थियों एवं उनके शुभेच्छुओं पर हमेशा बना रहेगा और वे सफलता के नए आयाम स्पर्श करती रहेंगी; साथ ही कुशल प्रशासनिक अनुभव से घर, समाज, संस्थान, साहित्य, शिक्षण एवं प्रशासन सभी दायित्वों का सफलतापूर्वक निर्वहन करती रहेंगी।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 + one =