प्रेसीडेंसी विश्वविद्यालय के छात्र संगठनों ने की प्रवेश परीक्षा की मांग

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के प्रेसीडेंसी विश्वविद्यालय में विभिन्न छात्र संगठनों ने स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए कला और विज्ञान दोनों विषयों में संस्थान की अलग-अलग प्रवेश परीक्षा आयोजित करने की उनकी मांग पूरी नहीं होने पर आंदोलन शुरू करने की धमकी दी है। माकपा से संबद्ध स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI) ने एक बयान में कहा कि उसने 26 अप्रैल को प्रेसिडेंसी विश्वविद्यालय (Presidency University) के अधिकारियों को इस संबंध में ज्ञापन सौंपा था। एसएफआई छात्र परिषद का नेतृत्व भी कर रही है। बता दें कि प्रेसिडेंसी विश्वविद्यालय बंगाल के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में से एक है और विश्वविद्यालय में वामपंथी छात्र संगठनों का दबदबा है। यूनियन भी वामपंथी छात्र संगठनों के नेतृत्व में संचालित होता है।

एसएफआई प्रेसीडेंसी विश्वविद्यालय इकाई के प्रवक्ता देबनील पॉल ने कहा, ”हमने शनिवार को फिर से विश्वविद्यालय के अधिकारियों से संपर्क किया, लेकिन हमें कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। अगर जल्द ही कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया गया तो हम तेज आंदोलन शुरू करने के लिए मजबूर होंगे।” विपक्षी छात्र संगठन इंडिपेंडेंट कंसॉलिडेशन (आईसी) ने भी इस संबंध में अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा है। आईसी के एक प्रवक्ता ने कहा कि प्रवेश परीक्षा को बंद करने से इस प्रमुख संस्थान की अकादमिक उत्कृष्टता के साथ समझौता हो सकता है।

विश्वविद्यालय के एक अधिकारी ने कहा, “प्रवेश परीक्षा आयोजित करने की तत्काल कोई योजना नहीं है और वे इस मामले पर आंदोलन कर रहे छात्रों के साथ बातचीत करने के लिए तैयार हैं।” बता दें पहले प्रेसिडेंसी विश्वविद्यालय में अलग से प्रवेश परीक्षा ली जाती थी, लेकिन इस साल विश्वविद्यालय अलग से प्रवेश परीक्षा आयोजित नहीं करने पर विचार कर रहा है। इसे लेकर ही छात्र संगठनों ने आंदोलन की धमकी दी है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 − five =