सफलता के लिए सकारात्मक दृष्टिकोण आवश्यक

डॉ. अखिल बंसल । आज ऐसा व्यक्ति शायद ही कोई हो जो सफल नहीं होना चाहता हो। बच्चे परीक्षा में, व्यापारी व्यापार में, डॉक्टर, इंजीनियर तथा पत्रकार अपने पेशे में, कहने का आशय यह है कि सभी अपने हुनर में सफलता प्राप्त करने का अनवरत प्रयास करते हैं। कोई अपने प्रयास में सफल होता है तो कोई असफल। जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए सकारात्मक दृष्टिकोण होना आवश्यक ही नहीं अनिवार्य है। सफलता 4 अक्षरों से मिलकर बना है जिसे कोई भी आसानी से लिख तो सकता है पर प्राप्त करना बहुत कठिन होता है। सफलता वह है जिसे हम अपने जीवन के लक्ष्य प्राप्ति के रूप में परिभाषित करते हैं। हमें अपने सपने साकार करने के लिए कड़ी मेहनत और समय का सही उपयोग करने की आवश्यकता है।

डॉ. अखिल बंसल, वरिष्ठ पत्रकार

सफलता हर किसी को नहीं मिल पाती है। इसके लिए काबिलियत और कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है। सभी के जीवन में कोई न कोई लक्ष्य होना नितांत आवश्यक है। बिना लक्ष्य के जीवन का कोई मूल्य नहीं। हमने अपने जीवन में जब भी जो गलतियां की हैं उन से सबक लेते हुए अपना लक्ष्य निर्धारित कर उस दिशा में सतत् आगे बढ़ते रहना चाहिए। लक्ष्य तक पहुंचना कोई ऐसा कठिन कार्य नहीं है जिसे कोई पा ना सके। हां प्रयास, लगन और मेहनत की आवश्यकता है। जैसे ही कोई अपने लक्ष्य की प्राप्ति कर लेता है तो उसे जो खुशी एवं संतुष्टि प्राप्ति होती है वह अनमोल है।
किसी घटना स्थिति या व्यक्ति के प्रति हमारा दृष्टिकोण या तो नकारात्मक होगा या फिर सकारात्मक। यदि हमारा दृष्टिकोण सकारात्मक है तभी हम पूर्णता लाभान्वित हो सकते हैं। सकारात्मक दृष्टिकोण का विकास कैसे हो यह महत्वपूर्ण है। यह परम सत्य है कि हमारा दृष्टिकोण हमारे विचारों द्वारा संचालित होता है। जैसा विचार वैसा दृष्टिकोण और जैसा दृष्टिकोण वैसी उपलब्धि।

समय प्रबंधन सफलता प्राप्त करने का एक महत्वपूर्ण कारक है। एक बार समय बीत जाने पर उसे वापस प्राप्त नहीं किया जा सकता। हमें अपने समय की कीमत पहचानना होगी। समय को ध्यान में रखकर अपना कार्य करते रहने से सुखी सफल जीवन की प्राप्ति संभव है। इस संसार में जिस व्यक्ति ने जन्म लिया है उसका कोई ना कोई प्रेरणा स्त्रोत अवश्य होता है। हमें अपने जीवन के लक्ष्य को पूरा करने के लिए वह प्रेरक व्यक्तित्व सही रास्ता दिखाता है और उस पर चलने में मदद करता है। हमें ईमानदारी और समर्पण भाव से कार्य करने के लिए वह व्यक्तित्व सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करता है।

सफलता एक चरणबद्ध प्रक्रिया है जो मेहनत व ईमानदारी से प्राप्त की जा सकती है। कड़ी मेहनत को सफलता की कुंजी माना जाता है। सफलता प्राप्ति के लिए कोई शॉर्टकट रास्ता है ही नहीं। दृढनिश्चयी व्यक्तित्व जो अपने लक्ष्य का पीछा करते हुए धैर्य के साथ चरणबद्ध तरीके से आगे बढ़ते हैं सफलता उनके कदम चूमती है। सकारात्मक विचार और ऊर्जा के साथ निरंतर प्रयास करने की कला जिसमें आ गई वह मनुष्य सफलता प्राप्त करने से कभी नहीं चूकता। सफल व्यक्ति वही है जो निरंतर उसे प्राप्त करने की सोचता है और उस दिशा में आगे बढ़ता है। सफलता प्राप्ति के लिए आदर्श एवं विलासिता त्यागने की आवश्यकता है। यदि जीवन में कुछ पाना है तो बहुत कुछ त्याग भी करना पड़ता है। सफलता प्राप्त करने पर जिस आनंद की अनुभूति होती है वह आशातीत है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 − 2 =