कोलकाता। पश्चिम बंगाल में सचिवालय अभियान के दौरान भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को बर्बर तरीके से पीटे जाने को लेकर पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने ममता बनर्जी की सरकार और पुलिस पर तीखा हमला बोला है। भाजपा केंद्रीय इकाई के निर्देश पर बंगाल पहुंची पांच सदस्यीय टीम में शामिल पूर्व केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) में प्रशासन और सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस मिलकर एक हो गए हैं। हेस्टिंग्स स्थित पार्टी ऑफिस में मीडिया से बातचीत में राठौर ने कहा कि केंद्र की सरकार देश भर के लोगों के हित में काम कर रही है।

जबकि बंगाल में राज्य सरकार भाजपा कार्यकर्ताओं को मारने, पीटने, घायल करने और प्रताड़ित करने में जुटी हुई है। पुलिस यहां कानून के मुताबिक नहीं, बल्कि सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस के निर्देश पर चलती है। दोनों एक हो गए हैं। बंगाल के आम लोग आने वाले समय में यह बात अच्छी तरह से बता देंगे कि पुलिस और तृणमूल के गठजोड़ को और अधिक बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। राठौर ने पूछा कि क्या भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन नहीं किया जा सकता? लोकतांत्रिक अधिकारों में आंदोलन का अधिकार सबको मिला हुआ है।

उन्होंने कहा कि 56 साल की एक महिला के पेट और पीठ पर पुलिस  लात मार रही है। उन्होंने कहा कि कैसी बंगाल पुलिस है, वह महिलाओं पर अपनी बहादुरी दिखा रही है. यह जुल्म और अधिक नहीं चलेगा। यहां के लोग आने वाले चुनाव में तृणमूल कांग्रेस को निश्चित तौर पर सबक सिखाएंगे। उन्होंने कहा कि बंगाल में सरकारी सत्ता का राजनीतिक उद्देश्य के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। बंगाल में भ्रष्टाचार, अत्याचार और अहंकार के खिलाफ हमारा आंदोलन जारी रहेगा।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 2 =