• महाराष्ट्र में चुनी गयी सरकार पैसे के बल गिरायी गयी

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एकबार फिर भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि देश का चुनाव अब आम जनता और भाजपा के बीच है। जनता ही अब भाजपा पर बुलडोजर चलायेगी। मेरे परिवार से एक सदस्य राजनीति में है तो क्या हुआ. क्या नये लोगों को राजनीति में आने का हक नहीं है? ममता ने बंगाल में चुनाव बाद हिंसा को लेकर कहा कि वह हिंसा नही, बीजेपी का ड्रामा था। आरोप लगाया कि यहां मानवाधिकार आयोग भेज दिया गया। पूछा कि कितने लोगों को यूपी, त्रिपुरा या प्रयागराज भेजा गया? कहा कि मीडिया ट्रायल किया गया।

मीडिया बीजेपी की दोस्त है। इससे पहले किसी भी सरकार का प्रचार करते नहीं देखा लेकिन आज मीडिया बीजेपी का प्रचार कर रही है। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा को लेकर कहा कि उनके पास कोई काम नहीं है। वह सिर्फ झूठ बोलते हैं। भाजपा ने महाराष्ट्र जीता है, लेकिन लोगों का दिल नहीं। असम में विधायकों (शिवसेना के बागी) को रुपयों के अलावा भी बहुत कुछ दिया गया। ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र के विधायकों को असम के होटल में न सिर्फ रुपये मुहैया कराये गये बल्कि उन्हें और भी बहुत कुछ दिया गया।

जब उनसे पूछा गया कि बहुत कुछ का क्या मतलब है, तो उन्होंने कहा कि हां वह आरोप लगा रही हैं, लेकिन कई बार चुप रहना, कुछ बोलने से ज्यादा अच्छा होता है। ममता बनर्जी ने कहा कि मैंने कभी सत्ता का ऐसा दुरुपयोग नहीं देखा, महाराष्ट्र में इन्होंने सरकार जीती, दिल नहीं जीता है। इंडिया टुडे कॉन्क्लेव (ईस्ट) में ममता ने सवाल उठाया कि महाराष्ट्र के विधायकों को लग्जरी होटल में ठहराने के लिए पैसे कहां से आये।

ममता बनर्जी ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि महाराष्ट्र में चुनी गयी सरकार को पैसे के बल पर गिराया गया। उन्होंने केंद्र पर ईडी, आईटी जैसी कंद्रीय एजेंसियों के दुरुपयोग का आरोप लगाया। बता दें कि ममता से जब बंगाल पुलिस के दुरुपयोग पर सवाल पूछा गया तो उनका जवाब था कि मैंने किसी को जेल नहीं भेजा।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven − one =