लोगों को भा रहा ‘अनवर का अजब किस्सा’, इकबाल के चरित्र में छाए राजेश तिवारी

अभिनय के धुरंधर नवाजुद्दीन सिद्दीकी, पंकज त्रिपाठी को खूब मिल रही सराहना

कोलकाता : स्टारडम औऱ चकाचौंध की लीक से हटकर आज की सच्चाई को दर्शाती ‘अनवर का अजब किस्सा’ ओटीटी प्लेटफॉर्म पर आने के साथ ही लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। विशेषकर फिल्मी विद्यार्थियों के लिए इससे काफी कुछ सीखने का भी मौका है। वजह बुद्धदेव दासगुप्ता का जबरदस्त निर्देशन। नवाजुद्दीन सिद्दीकी, पंकज त्रिपाठी अभिनीत हाल ही में रिलीज हुई फिल्म ‘अनवर का अजब किस्सा’ अन्य से थोड़ी अलग है। दरअसल वर्तमान के समय में एक तरफ जहां मारधाड़ व रोमांस की ही फिल्में अधिक आती हैं, उस बीच लोगों के बीच ऐसी फिल्म का आना किसी चुनौती से कम नहीं है। करीब आठ साल के बाद बुद्धदेव दासगुप्ता की फिल्म ‘अनवर का अजब किस्सा’ रिलीज हुई है।

दर्शक इस फिल्म को ओटीटी प्लैटफॉर्म इरोस नाउ पर देख सकते हैं। वैसे तो फिल्म में नवाजुद्दीन सिद्दीकी लीड रोल में हैं। हालांकि पंकज त्रिपाठी ने भी इसमें अहम किरदार निभाया है। इकबाल चरित्र के तौर पर राजेश तिवारी ने भी अपने अभिनय का लोहा मनवाया है। उनका किरदार लोगों को काफी पसंद आ रहा। इससे पहले भी राजेश एमएस धोनी फ़िल्म में अपने अभिनय से लोगों को आकर्षित कर चुके हैं। उनके अभिनय को काफी सराहा गया। इसकी कहानी किसी भी समय आपको बोरियत का अहसास नहीं दिलाएगी।

कोलकाता के लोकेशन भी खूब पसंद कर रहे लोग
इस फिल्म की शूटिंग कोलकाता में की गई है। इसके लोकेशन भी लोगों को काफी पसंद आ रहे हैं। यह फिल्म एक निजी जासूस अनवर मोहम्मद (नवाज) के जीवन के आसपास घूमती नजर आ रही है। फिल्म में समाज की कुप्रथाओं पर भी प्रहार किया गया है।

लंदन फ़िल्म फेस्टिवल में सराही जा चुकी है फ़िल्म
फ़िल्म का निर्देशन बुद्धदेव दासगुप्ता ने किया है। फ़िल्म  2013 में लंदन फ़िल्म फेस्टिवल में भी दिखायी जा चुकी है। इस दौरान इसे काफी सराहना भी मिल चुकी है। हालांकि फिल्म को भारत के सिनेमाघरों में आने का मौक़ा नहीं मिल सका था। फ़िल्म में नवाजुद्दीन के अलावा पंकज त्रिपाठी, निहारिका सिंह और अनन्या चटर्जी भी अहम किरदारों में नजर आ रही हैं। इनके किरदार भी काफी सराहे जा रहे हैं।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 4 =