सादगी व समर्पण के प्रतीक थे पंडित दीनदयाल उपाध्याय 

तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर : पंडित दीनदयाल उपाध्याय सादगी व समर्पण के प्रतीक थे । उन्होंने देश को एकात्म मानवतावाद का विचार दिया । यह बात भारतीय जनता पार्टी नेताओं ने कही । शुक्रवार को शहर के पुरातन बाजार स्थित सांगठनिक कार्यालय में पंडित उपाध्याय को उनकी १०४ वीं जयंती पर याद करते हुए उन्होंने ये बातें कहीं । इस अवसर पर वरिष्ठ नेता बबलू बरम , उत्तम बेरा, कैलाश पंडित, राजू प्रमाणिक , अभिजीत पंडित तथा अभिषेक साहू समेत बड़ी संख्या में नेता व  कार्यकर्ता उपस्थित रहे ।
पंडित दीन दयाल उपाध्याय के  जीवन संघर्ष का उद्धरण प्रस्तुत करते हुए वक्ताओं ने कहा कि पंडितजी के अथक संघर्ष और दूरदर्शिता के  चलते ही संगठन का  इतना व्यापक विस्तार हो पाया । वे आजीवन उच्च विचारों के  साथ सादगीपूर्ण जीवन जीते रहे । उन्होंने समाज के  अंतिम व्यक्ति के  विषय में  सोचा । निष्ठा , समर्पण और शुचिता से  उन्होंने राजनीति को पूरी तरह से देशसेवा और परोपकार का विषय बनाया । वे आत्म केंद्रित राजनीति के  धुर विरोधी थे । उनके विचारों को जीवन काल में  भले ही  उतनी गंभीरता से नहीं लिया गया , लेकिन वास्तव में  उनके विचार सदियों तक देश की  नई पीढ़ी को आलोकित करते रहेंगे ।
Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × five =