कोलकाता। शिक्षक भर्ती घोटाले में एक और व्यक्ति की गिरफ्तारी हुई है। उत्तर 24 परगना के सोदपुर निवासी सुब्रत मालाकार को भर्ती भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार किया गया था। ईडी और सीबीआई की छापेमारी सोमवार सुबह कोलकाता शहर और उपनगरों के विभिन्न इलाकों में छापेमारी शुरू की थी। ईडी अधिकारियों ने सोदपुर के राजेंद्रपल्ली इलाके में आरोपी के घर पर छापा मारा और लगभग छह घंटे तक पूछताछ के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया। सूत्रों के मुताबिक जांच एजेंसी के अधिकारी सुबह से बैंक कर्मचारियों के साथ सुब्रत मालाकार के घर पर छापेमारी कर रही थी।

ईडी के चार सदस्यीय प्रतिनिधि और एसबीआई के दो अधिकारी-केंद्रीय एजेंसियों के साथ-साथ मालाकार में पानीहाटी के घर गए थे। बता दें कि इस मामले में पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी, उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी सहित कई अधिकारियों की गिरफ्तारी पहले हो चुकी है। मालूम हो कि छह-सात साल से पानीहाटी के राजेंद्र नंबर 1 से यहां आये थे।  इससे पहले एक निजी कंपनी के कर्मचारी सुब्रत मालाकार इस मकान में किराए पर रह रहे थे।

बाद में उन्होंने यह घर खरीद लिया. हालांकि, यह परिवार किसी के साथ मेलजोल नहीं करता था ईडी के अधिकारियों का कहना है कि सुब्रत मालाकार के बैंक खाते से लाखों रुपये का लेनदेन हुआ है। ईडी के अधिकारी इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या राजू साहनी का इस लेनदेन से कोई संबंध है। बैंक के इन लेन-देन को कई बार देखने के बाद केंद्रीय एजेंसी के अधिकारियों को शक हुआ।

चूंकि ज्यादातर लेन-देन स्टेट बैंक के पास हुए हैं, इसलिए दो अधिकारियों को साथ में लाया गया था। हाल में हालीशहर नगरपालिका के चेयरमैन राजू साहनी को गिरफ्तार किया गया था। उधर,  ईडी ने सोमवार सुबह केष्टोपुर में एक स्थानीय कारोबारी के घर पर छापा मारा. केंद्रीय जांच एजेंसी के 6-7 अधिकारी राजू हीरा नाम के शख्स के घर पहुंचे। निवासियों का दावा है कि पिछले कुछ वर्षों में राजू की संपत्ति की मात्रा में नाटकीय रूप से वृद्धि हुई है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 1 =