मेचेदा में ट्रेन से कट कर वृद्धा की मौत

मृत महिला के परिजनों को उचित मदद के लिए एसएम को ज्ञापन

खड़गपुर । सीता रानी मंडल नामक बूढ़ी महिला अपने सिर पर फलों की टोकरी लेकर पूर्वभाला से मेचेदा बाजार जाते समय ट्रेन की चपेट में आ कर जान गंवा बैठी। मेचेदा स्टेशन से सटे ग्रामीणों की लंबे समय से मांग रही है कि मेचेदा से गोपालगंज स्कूल तक रैंप बनाई जाए। क्योंकि रैम्प नहीं होने के कारण मेचेदा स्टेशन के उत्तर में बहला, पुरबाभला और अंदुलपोटा सहित कई गांवों के निवासियों को दिन के अधिकांश समय मेचेदा बाजार तक पहुंचने के लिए रेलवे लाइन पार करनी पड़ती है। उन सभी गांवों के कई लोग मेचेदा बाजार में फल, सब्जियां और मछली बेचकर अपना परिवार चलाते हैं।

कल 56 वर्षीय महिला सीता रानी मंडल की सिर पर फलों की टोकरी लेकर मेचेदा बाजार की ओर आ रही ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गयी थी। बहुत ही गरीब परिवार है उसका। इकलौते बेटे की 2009 में एक दुर्घटना में मौत हो गई थी। बुजुर्ग, बीमार पति, नाती-पोते समेत पूरे परिवार को चलाने के लिए महिला सिर पर फलों की टोकरियां लेकर दुकानों पर जाती थी। बदले में मिलने वाले पैसों से वह अपना परिवार चलाती थी। इस मौत से स्थानीय लोगों में आक्रोश है। नागरिक प्रतिवाद मंच (दक्षिण पूर्व रेलवे शाखा) की ओर से आज तत्काल मेचेदा स्टेशन प्रबंधक को ज्ञापन सौंपा गया।

प्रतिनिधिमंडल में सरोज माईती, सुब्रत दास, तपन कुमार नायक, उत्तम पराई और अन्य शामिल थे। प्रबंधक ने मांगों को खड़गपुर के डीआर को भेजने का वादा किया। नागरिक प्रतिरोध मंच की दक्षिण-पूर्वी रेलवे शाखा के संयुक्त सचिव सरोज माईती ने कहा कि यदि रेलवे ने उपरोक्त मांगों को पूरा करने के लिए तत्काल कार्रवाई नहीं की तो मंच एक बड़ा आंदोलन शुरू करने के लिए मजबूर होगा।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five + 20 =