कोलकाता । वंदे भारत एक्सप्रेस में बिहार से पत्थर फेंके गए, पश्चिम बंगाल में नहीं। यह बात पूर्वी रेलवे ने गुरुवार को कही। पिछले दो दिनों से बंदे भारत एक्सप्रेस में पथराव की घटना से राज्य की राजनीति में उथल-पुथल मची हुई है। इस बार रेलवे ने पथराव की घटना के लिए जिम्मेदार लोगों की पहचान कर ली है। आरोपियों की पहचान हावड़ा-न्यू जलपाईगुड़ी-वंदे भारत ट्रेन के रेल से जुड़े सीसीटीवी फुटेज की मदद से की गई है। कई लोगों ने शिकायत की कि पत्थर पश्चिम बंगाल से फेंके गए। हालांकि रेलवे की ओर से इस बात की पुष्टि की गई है कि यह पत्थर बंगाल से नहीं बल्कि बिहार के इलाके से फेंका गया था।

यह बात पूर्व रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी एकलव्य चक्रवर्ती ने गुरुवार को कही। एकलव्य ने मीडिया से कहा कि, “पत्थर बिहार से फेंका गया था। वह तस्वीर सीसीटीवी फुटेज में कैद हो गई है। आरोपी चार व्यक्तियों की हरकत से स्पष्ट है कि वे पथराव करने के लिए ही वहां खड़े थे। ट्रेन के हर डब्बे में सीसीटीवी है। ये तस्वीर वहीं कैद हुई थी।” रेलवे प्राधिकरण ने गुरुवार सुबह एक अधिसूचना जारी कर कहा कि आरोपियों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी। एकलव्य ने यह भी कहा कि रेलवे की ओर से बिहार प्रशासन को पत्र भेजा जाएगा।

अधिसूचना के मुताबिक रेलवे सुरक्षा बल ने पथराव की घटना में राज्य जीआरपी और राज्य पुलिस के साथ जांच शुरू कर दी है। आरोपी की तलाश और गिरफ्तारी के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है। रेलवे ने यह भी बताया कि आरोपियों के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी। राज्य प्रशासन और पुलिस को भी दोषियों को गिरफ्तार करने और कानूनी कार्रवाई शुरू करने की सलाह दी गयी है।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × two =