तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर । पश्चिम मेदिनीपुर जिला अंतर्गत मेदिनीपुर शहर के ऐतिहासिक नाट्य विद्यासागर स्मृति मंदिर में मेदिनीपुर की प्रसिद्ध नृत्य शिक्षण संस्था रविसप्तक का दो दिवसीय वार्षिक सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं नृत्य कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के प्रारंभ में प्रसिद्ध नृत्यांगना स्वर्गीय स्निग्धा पाल एवं दिवंगत प्राध्यापक अनिमेष पाल के चित्र पर माल्यार्पण किया गया। रविसप्तक की कर्णधार व प्रमुख नृत्यांगना सुतनुका पाल ने कार्यक्रम में सभी का स्वागत किया। रवीन्द्र भारती विश्वविद्यालय के पूर्व प्राध्यापक जयंत मुखर्जी एवं उनकी पत्नी नृत्यांगना रीना मुखर्जी ने दो दिवसीय नृत्य कार्यशाला में विद्यार्थियों को रवीन्द्र नृत्य एवं रचनात्मक नृत्य का विशेष प्रशिक्षण दिया।

इस कार्य में मुखर्जी दंपत्ति को उनकी योग्य पुत्री राजन्या और योग्य छात्रा देबश्री ने सहयोग दिया। दो दिवसीय कार्यक्रम के संध्या सांस्कृतिक कार्यक्रम में रविसप्तक के विद्यार्थियों ने भरतनाट्यम, मणिपुरी सहित विभिन्न शास्त्रीय नृत्यों की प्रस्तुति दी। इसके अलावा, छात्रों ने कार्यशाला में सीखे गए विभिन्न रवींद्र नृत्यों और कविगुरु द्वारा ऋतुओं और विभिन्न महिला पात्रों पर लिखे गए विभिन्न गीतों पर नृत्य किया। स्निग्धा पाल की स्मृति में विशेष नृत्य भी किए गए।

संगीतकार जयंत साहा, बाल कलाकार अमिय पाल, शिक्षाविद सत्यब्रत दोलाई, पार्षद इंद्रजीत पाणिग्रही, संस्कृति प्रेमी स्वपन मजुमदार, जयंत मंडल, कुणाल बनर्जी, गौतम देव, प्रसून दे व शिक्षक सुदीप कुमार खांडा समेत बड़ी संख्या में गणमान्य व्यक्ति इस अवसर पर उपस्थित रहे। पूरे कार्यक्रम का निर्देशन नृत्यांगना सुतनुका पाल चट्टोपाध्याय ने किया। रीमा मजूमदार, दलिया साहू, इप्सिता चौधरी, सायंतनी चक्रवर्ती, मौमिता चौधरी आदि ने विशेष रूप से सहयोग किया।

Shrestha Sharad Samman Awards

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen − 11 =