मंत्री ज्योतिप्रिय के समर्थन में उतरीं ममता बनर्जी

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राशन वितरण भ्रष्टाचार के मामले में राज्य के पूर्व खाद्य मंत्री और वर्तमान में वन मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक के घर ईडी कार्रवाई पर सवाल खड़ा किया है। उन्होंने इस छापेमारी को भारतीय जनता पार्टी की सुनियोजित साजिश करार दिया और कहा कि भाजपा गंदी राजनीति कर रही है। ममता ने कहा कि ज्योतिप्रिय मल्लिक (बालू) शुगर के रोगी हैं और अगर इस छापेमारी की वजह से उन्हें कुछ होता है, उनकी मौत हो जाती है तो ईडी और भाजपा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। उन्होंने कहा कि भाजपा वाले सबका साथ सबका विकास की बात करते हैं लेकिन हकीकत में वह सब का सर्वनाश कर रहे हैं।

विश्व भारती की पट्टिका पर गुरुदेव का नाम नहीं : ममता बनर्जी ने यह भी आरोप लगाया कि हाल ही में यूनेस्को की ओर से धरोहर घोषित किए गए बीरभूम जिले के प्रसिद्ध विश्व भारती विश्वविद्यालय की पट्टिका पर गुरुदेव रविंद्र नाथ टैगोर का ही नाम नहीं है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर पट्टिका ऐसी ही रही और उस पर गुरुदेव का नाम अंकित नहीं किया गया तो तृणमूल कांग्रेस इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगी। इसलिए अब हर जगह देश का नाम बदलने में जुट गए हैं। उनका काम इतिहास को बदलना है, लेकिन इसमें सफल नहीं होंगे। ममता ने दावा किया कि और चंद महीने की बात है। केंद्र से मोदी सरकार की विदाई हो जाएगी।

एनसीईआरटी की किताब में इंडिया को भारत किए जाने पर उठाए सवाल : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एनसीईआरटी की किताबों में इंडिया की जगह भारत पढ़ाए जाने की निर्देशिका जारी किए जाने को लेकर केंद्र पर हमला बोला है। कालीघाट स्थित अपने आवास पर मीडिया से मुखातिब ममता ने कहा कि केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार देश के इतिहास को बदलने की कोशिश कर रही है। विपक्षी आईएनडीआईए गठबंधन की डर की वजह से यह कदम उठाए जाने को लेकर सवाल खड़ा करते हुए ममता ने कहा कि उन्हें इंडिया से डर लगता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *